A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 124 Countries as of NOW.

WelcomeNRI.com is being viewed in 124 Countries as of NOW.

टैक्स प्रफेशनल्स की डिमांड बढ़ी, लोग पूछ रहे कैसे 'सफेद' करें पैसा


exploiting-to-justify-unaccounted-cash-as-legal-income

नई दिल्ली मोदी सरकार की तरफ से 500, 1000 के पुराने नोट बैन करने के बाद अचानक टैक्स प्रफेशनल्स की डिमांड बढ़ गई है। लोग चार्टर्ड अकाउंटेंट्स और टैक्स कंसल्टेंट्स से संपर्क कर रहे हैं। प्रफेशनल्स 5 फीसदी से 25 फीसदी के बीच चार्ज कर लोगों को रास्ते बता रहे हैं कि कैसे वे अपनी कैश राशि को बिना किसी टैक्स फ्रॉड के चक्कर के सफेद कर सकें।

टैक्स प्रफेशनल्स का कहना है कि जो ईमानदार कर दाता हैं उन्हें इस फैसले से चिंतित होने की जरूरत नहीं है। अगर उनके पास कैश का विधिक सोर्स है तो वे अपनी राशि आराम से बैंक में जमा कर सकते हैं। सरकार भी स्पष्ट कर चुकी है कि अकाउंट में 2.5 लाख रुपये से अधिक जमा करने पर ही कोई जांच के दायरे में आएगा। आइए आपको बताते हैं उन तरीकों के बारे में जिनका इस्तेमाल अपने पास मौजूद कैश को लीगल बनाने के लिए किया जा रहा है...

1- घर की सेविंग

यह लोगों के लिए एक बड़ा ही आसान उपाय बना हुआ है। लोग घर में इकट्ठा कैश को हाउसवाइफ की सेविंग्स बता कर पैसे जमा कर सकते हैं। टैक्स कानून इस बारे में स्पष्ट नहीं हैं कि कोई अपनी कुल आय और महीने के खर्च के बाद कितनी राशि बचत के तौर पर दिखा सकता है। एक उदाहरण से समझें तो यदि किसी कि मासिक आय 80,000 रुपये और खर्च 40,000 रुपये है तो पत्नी 8,000-10,000 रुपये हर महीने अलग से बचत कर सकती है।

ध्यान रखें: अगर आपकी यह बचत हाउसहोल्ड बजट के 20-25 फीसदी से अधिक है, तो आप टैक्स डिपार्टमेंट की नजर में आ सकते हैं।

2- ट्यूशन और कुकरी क्लासेज से होने वाली आय

दिल्ली के एक चार्टर्ड अकाउंटेंट ने बताया कि लोग अपनी पत्नी और बच्चों की इनकम दिखाने के लिए इस ट्रिक का इस्तेमाल करते हैं। ट्यूशन देकर 2.5 लाख रुपये/वार्षिक आय दिखाई जा सकती है। टैक्स प्रफेशनल्स लोगों को पिछले दो साल साल का (2014-15 और 2015-16) टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। टैक्स नियमों के मुताबिक हर महीने एक फीसदी का इट्रेंस्ट फाइन के तौर पर अदा कर रिटर्न फाइल किया जा सकता है।

ध्यान रखें: अगर इस मद में ज्यादा इनकम दिखाएंगे तो टैक्स डिपार्टमेंट आपके रिटर्न की जांच कर सकता है। आपसे ट्यूशन पढ़ने वाले बच्चों की डिटेल मांगी जा सकती है। ट्यूशन पढ़ाने वालों की डेली रूटीन भी चेक की जा सकती है।

3- रिश्तेदारों से मिलने वाले गिफ्ट

यह भी एक कॉमन ट्रिक है। लोग कैश को रिश्तेदारों से मिला गिफ्ट बताते हैं। अगर गिफ्ट पाने वाला वयस्क है तो कुछ निर्दिष्ट नजदीकी रिश्तेदारों से मिलने वाला गिफ्ट टैक्स मुक्त होता है। हालांकि इसमें भी किसी हाउसहोल्ड की ओवरऑल इनकम के साथ सामंजस्य होना चाहिए। अगर किसी परिवर की मासिक आय एक लाख रुपये है तो सालाना 40-50,000 रुपये तक का कैश गिफ्ट चलेगा।

ध्यान दें: अगर गिफ्ट की राशि एक लिमिट से ज्यादा दिखाई जा रही है तो टैक्स डिपार्टमेंट आपसे गिफ्ट देने वाले का नाम पूछ सकता है। गिफ्ट देने वाले के सोर्स ऑफ इनकम की जांच की जा सकती है।

4- शादी और मुंडन जैसे संस्कार

जिनकी इस साल शादी हुई है या जिनके बच्चों के मुंडन संस्कार हुए हैं वे लकी हो सकते हैं। चार्टर्ड अकाउंटेंट मीनल अग्रवाल के मुताबिक शादी और मुंडन ऐसे दो संस्कार हैं जिनमें रिश्तेदारों के अलावा दूसरे लोगों से भी मिले गिफ्ट टैक्स से मुक्त होते हैं। ऐसे में कैश को गिफ्ट के तौर पर भी दिखाया जा सकता है। हालांकि इसे भी आपके परिवार की आय के मुताबिक ही होना चाहिए। अगर ऐसा नहीं है तो यह रास्ता दोधारी तलवार हो सकता है। अगर शादी काफी भव्य हुई है, जहां काफी कैश मिला है, तब टैक्स डिपार्टमेंट शादी में खर्च हुए पैसे का सोर्स पूछ सकता है।

ध्यान दें: इस मद में ज्यादा राशि की घोषणा की गई तो टैक्स डिपार्टमेंट गिफ्ट देने वालों के नाम पूछ उनके इनकम की जांच कर सकता है।

5- वर्कर्स को अडवांस और लोन का पेमेंट

छोटे-मंझोले व्यवसायी और यहां तक कि सैलरी पाने वाले भी कैश का इस्तेमाल अपने कर्मचारियों या वेंडरों को अडवांस भुगतान देने में कर सकते हैं। इसमें भी कोई लिमिट नहीं है कि कितना अडवांस दिया जा सकता है। फिर भी इसे तर्क की कसौटी पर खरा उतरना ही चाहिए।

ध्यान दें: अगर कर्मचारियों को 2-3 महीने से अधिक का अडवांस दिया तो वे जॉब स्विच करेंगे और पैसा डूब सकता है। प्रॉपर पेपरवर्क कर लोगों को लोन दिया जा सकता है।

A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):