A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 121 Countries as of NOW.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!
You are Here : Home » Ajab Gajab News » मोदी सरकार के चार साल 'बेमिसाल', अब करेंगे आगे की बात - पढ़े 10 खास बातें!

मोदी सरकार के चार साल 'बेमिसाल', अब करेंगे आगे की बात - पढ़े 10 खास बातें!

Four Years Of Modi Govt
खास बातें
  • आज मोदी सरकार के चार साल पूरे हो रहे हैं.
  • पीएम मोदी ने 26 मई 2014 को शपथ ली थी.
  • इस मौके पर विपक्ष भी हमलावर है.

नई दिल्ली: आज मोदी सरकार के चार साल पूरे हो गये. मोदी सरकार के चार साल पूरे होने के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी जश्न मना रही है और सरकार की उपलब्धियों को गिना रही है, वहीं कांग्रेस इस दिन को पूरे देश में 'विश्वासघात दिवस' के रूप में मना रही है. कांग्रेस सहित विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार के कार्यकाल को विफल बताने में जुटी है, वहीं भाजपा ये बताने की कोशिश कर रही है कि मोदी सरकार की योजनाओं से देश के लोगों को काफी फायदा पहुंचा है. इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकार को बधाई दी है, तो वहीं कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने चुटकी लेते हुए कहा कि चार साल के कार्यकाल का सार यही है मेरा भाषण ही मेरा प्रशासन है.

सरकार के चार साल पूरे होने पर पीएम मोदी ने ट्वीट किया. मोदी ने ट्वीट किया कि, '2014 में आज के ही दिन हमने भारत के बदलाव के सफर की शुरुआत की थी. पिछले चार साल में विकास जन आंदोलन बन गया है. देश का हर नागरिक इसमें अपनी हिस्‍सेदारी महसूस कर रहा है. सवा सौ करोड़ भारतीय भारत को नई ऊंचाइयों पर ले जा रहे हैं.'

भ्रष्‍टाचार पर चोट

चार वर्ष पहले भ्रष्‍टाचार पर करारी चोट, राष्‍ट्रहित सवोपर्य, देश की आतंरिक और बाहरी सुरक्षा सबसे पहले के मुद्दे पर सरकार केंद्र में आई थी। इन सभी क्षेत्रों में भाजपा ने बखूबी काम किया। नोटबंदी पर विपक्ष ने सरकार को जमकर लताड़ा, लेकिन केंद्र की सरकार अपने मजबूत हौसलों की बदौलत परेशानियों से डिगी नहीं और नोटबंदी को सफल साबित करके दिखाया। इसका नोटबंदी का सीधा असर आतंकवाद से प्रभावित राज्‍य जम्‍मू कश्‍मीर में दिखाई दिया जहां पर पैसे लेकर सेना पर पत्‍थर फेंकने वालों का कारोबार रातों-रात ठंडा पड़ गया। नोटबंदी का एक दूसरा बड़ा फायदा ये हुआ कि पाकिस्‍तान से आई नकली नोटों की खेप रातों-रात कागज के टुकड़ों में बदल गई। इसका एक दूसरा फायदा आतंकवाद की रोकथाम पर भी दिखाई दिया।

बेनामी संपत्ति कानून और ई-गर्वनेंस

विपक्ष ने भले ही नोटबंदी को लेकर सरकार को खूब खरी-खोटी सुनाई लेकिन दूसरी तरफ पहली बार ऐसा दिखाई दिया कि देश की जनता सरकार के खड़ी दिखाई दी। सरकार के इस फैसले ने भ्रष्‍टाचार पर भी जबरदस्‍त प्रहार किया। इसके अलावा पहली ही बैठक में कालेधन के खिलाफ एसआइटी के गठन का फैसला करने वाला मोदी मंत्रिमंडल भ्रष्टाचार के आरोपों से बेदाग रहा है। बेनामी संपत्ति कानून लागू कर सरकार ने भ्रष्‍टाचार पर रोक लगाने की अपनी मंशा पूरी तरह से साफ कर दी। ई-गर्वनेंस का जो उदाहरण केंद्र सरकार ने पिछले चार वर्षों में पेश किया है वह इससे पहले कभी देखने को नहीं मिला।

आतंकवाद पर करारा वार

आतंकवाद के मुद्दे पर भी केंद्र सरकार ने सीमा पर सर्जिकल स्‍ट्राइक कर यह साफ कर दिया कि वह देश की सुरक्षा के लिए अपने सैनिकों को सीमा पार भेजने से भी नहीं हिचकिचाएगी। सितंबर 2016 में पाकिस्‍तान की सीमा के अंदर की गई कार्रवाई से वहां मौजूद आतंकी और उनकी रक्षा में लगे पाक सैनिक भौचक्‍के रह गए थे। हालांकि आतंकवाद को बर्दाश्‍त न करने को लेकर यह इस सरकार की पहली कार्रवाई नहीं थी। इससे पहले म्‍यांमार में भी भारतीय सेना के जवानों ने इस तरह की कार्रवाई को सफलतापूर्वक अंजाम दिया था। इन दोनों कार्रवाई के दौरान जवान सुरक्षित अपनी सीमा में दाखिल भी हो गए थे।

आतंक से जंग जारी

आतंकवाद को रोकने और आतंकियों की धरपकड़ को लेकर केंद्र सरकार ने जो मुहिम चार वर्ष पहले शुरू की थी वह अब भी जारी है। इसी मुहिम के तहत इस सरकार के नेतृत्‍व में सेना ने जम्‍मू कश्‍मीर में आतंकियों को ढेर कर बड़ी सफलता भी हासिल की है। आतंकियों के पोस्‍टर ब्‍वॉय से लेकर कई आतंकियों को सेना अब तक ढेर कर चुकी है। सेना का खौफ अब न सिर्फ आतंकियों में बल्कि पाकिस्‍तान में भी साफतौर पर देखा जा रहा है।

विदेश नीति की धूम

केंद्र की मोदी सरकार ने भारत को विश्‍व मंच पर जो स्‍थान दिलाया है वह इससे पहले उसे कभी नहीं मिला था। बात चाहे एनएसजी ग्रुप से जुड़ने की मुहिम की हो या यूएन में स्‍थायी सदस्‍यता की भारत ने इसके लिए पुरजोर कोशिश की है और कर रहा है। आतंकियों को सुरक्षित पनाह देने वाले पाकिस्‍तान को लेकर केंद्र ने जो नीति बनाई उसकी ही बदौलत वह वैश्विक मंच पर खुद ब खुद अलग-थलग पड़ गया। भारत ने जो कहा उसको ही अब पाकिस्‍तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ भी दोहरा रहे हैं। वह खुलेआम कह रहे हैं कि पाकिस्‍तान में आतंकियों को पनाह दी गई और उनके खिलाफ जो कार्रवाई होनी चाहिए थी वह नहीं हो सकी।

पाकिस्‍तान को बेनकाब करने में सफल

वैश्विक मंच पर भारत ने पाकिस्‍तान को बेनकाब करने की सफल मुहिम चलाई जिसके परिणामस्‍वरूप सार्क देशों ने भी पाकिस्‍तान से किनारा कर लिया था। वहीं दूसरी ओर डोकलाम के मुद्दे पर आंख दिखा रहे चीन को भी भारत ने कूटनीतिक तौर पर जबरदस्‍त पटखनी देने में सफलता हासिल की थी। इसके बाद भी डोकलाम के मुद्दे पर ड्रेगन शांत हो सका था। भारत ने अरुणाचल प्रदेश को विवादित बताने वाले चीन को यह भी खुलेतौर पर जता दिया कि भारत अपनी सीमाओं की रक्षा करना बखूबी जानता है। ब्रिक्‍स से लेकर एससीओ तक में केंद्र सरकार ने अपनी बातों बखूबी रखा जिसको पूरी विश्‍व बिरादरी ने माना।

स्वच्छता को लेकर जगाई अलख

मोदी सरकार ने साफ-सफाई को लेकर लोगों को जो जागरुक करने की मुहिम शुरू की उसका ही परिणाम है कि आज ज्‍यादातर गलियां और सड़कें साफ दिखाई देती है। इससे पहले इस बारे में किसी ने नहीं सोचा था। इसके लिए पीएम मोदी ने जनता से सीधा संवाद किया और उन्‍हें इसके लिए प्रेरित भी किया। शहरों से लेकर गांवों तक में शौचालयों का निर्माण करवा कर पीएम मोदी ने देश को लोगों को साफ सुथरा रहने और अपनी जगह को साफ सुथरा बनाने की ली। केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बनी भाजपा सरकार ने अब तक लाखों शौचालयों का निर्माण करवाकर देश की जनता से स्‍वच्‍छता की गारंटी ली है। वहीं दूसरी तरफ लोगों ने भी उन पर विश्‍वास जताया है। यह विश्‍वास तभी आ सका है जब पीएम मोदी खुद आम जनता से जुड़े और उनसे संवाद किया।

Tags: Modi Government, Yogi Adityanath, Congress, Modi Government, Manish Tewari, Four Years Of Modi Govt, Modi Govt scheme, BJP, UPA, NDA, मोदी सरकार, मोदी सरकार की उपलब्धियां, मोदी सरकार के चार साल, बीजेपी सरकार, बीजेपी, PM Modi , Odisha, Congress

You may be intrested in

A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):