A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 121 Countries as of NOW.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

सुकन्या समृद्धि खाता योजना क्या है? | Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi


sukanya-samriddhi-yojana-in-hindi

जिस घर में होता बेटी का सम्मान, वह घर होता स्वर्ग समान ।
बेटियों को बराबरी का दर्जा दीजिये, समाज में जागरूकता फैलाइये ।

बेटियों के भविष्‍य के लिए पैसे जोड़ने के लिए सुकन्‍या समृद्धि योजना एक अच्‍छी स्‍कीम है। इस पर अधिक ब्‍याज के साथ टैक्‍स प्‍लानिंग में भी यह मददगार होता है।.. …

सुकन्या समृद्धि योजना | Sukanya Samriddhi Account Details

सुकन्या समृद्धि खाता योजना, जो भारत के डाक विभाग और अधिकृत बैंकों में प्रदान की जाती है, 22 जनवरी 2015 को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भारत सरकार द्वारा शुरू की गई बेटी बचाओ बेटी पढाओ अभियान का हिस्सा है।

लड़कियों को कई प्रकार की बाधाओं का सामना करना पड़ता है। अगर अपने जन्म के बाद उसे चुनौतियों का सामना करना पड़ता है तो जन्म से पहले भी उसे स्त्री भेदभाव के रूप में मुसीबतों का सामना करना पड़ता हैं। वैज्ञानिक और तकनीकी विकास ने भ्रूण के लिंग को जन्म से पहले निर्धारित करना संभव बना दिया, जिसके कारण गर्भ में महिला के खिलाफ कदम उठाए जाते है। जब यह पता चलता है कि गर्भवती माँ के गर्भ में लड़की है तो पूरा परिवार महिला के गर्भपात का फैसला ले लेता है। भ्रूण के लिंग निर्धारण परीक्षणों के नतीजे (जो बच्चा अभी तक पैदा नहीं हुआ है) और साथ ही पूर्व गर्भधारण सेक्स चयन सुविधाओं की उपलब्धता तथा महिला शिशुओं को जन्म से पहले ही खत्म करने की घटनाओं की वजह से भारत में वर्षों से बाल यौन अनुपात (CSR) प्रभावित हुआ है।

केंद्र सरकार की बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना लड़की के लिंग-आधारित उन्मूलन को रोकने और राष्ट्र में लड़कियों की जिंदगी, संरक्षण, शिक्षा और भागीदारी को सुनिश्चित करने का प्रयास करती है।

सुकन्या समृद्धि योजना क्यों शुरू की गई?

लड़कियों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की।

सुकन्या समृद्धि खाता योजना, केवल लड़कियों के लिए, के अंतर्गत लड़की के नाम पर एक खाते में उसके माता-पिता / कानूनी अभिभावक द्वारा पैसे की नियमित बचत का प्रचार करके लड़की के कल्याण को सुनिश्चित करने हेतु एक विचार है।

देश में बड़ी संख्या में डाकघरों के होने के कारण दूरदराज के क्षेत्रों और दुर्गम क्षेत्रों के डाकघर में सुकन्या समृद्धी खाता योजना की उपलब्धता से लोगों को काफी लाभ होता है क्योंकि इससे अधिक से अधिक लोग जुड़ सकते है। इस प्रयोजन के लिए प्राधिकृत किसी भी बैंक / डाक कार्यालय में खाते को खोला जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि खाता कैसे खोला जाए?

किसी अधिकृत बैंक से फॉर्म प्राप्त करें और इसे पूरी तरह से भरें और आवश्यक सभी दस्तावेजों के साथ फार्म जमा करें। यहाँ सुकन्या समृद्धी खाते के बारे में कुछ जानकारी और तथ्य हैं जो आपको खाता खोलने से पहले जानने की जरूरत है:

सुकन्या समृद्धि खाता के बारे में तथ्य और सूचना

यह खाता कौन खोल सकता है? - यह खाता माता-पिता / कानूनी अभिभावक द्वारा लड़की की 10 वर्ष की उम्र तक खोला जा सकता है।

पात्रता - यह खाता किसी भी लड़की के जन्म से लेकर उसकी 10 वर्ष की उम्र तक किसी पोस्ट ऑफिस या अधिकृत बैंक में खोला जा सकता है।

खाता की संख्या कितनी हो सकती है? - यह योजना माता-पिता को एक लड़की के नाम पर केवल एक खाता खोलने और दो अलग-अलग लड़कियों के नाम पर अधिकतम दो खाता खोलने की अनुमति देता है।

न्यूनतम राशि - इस खाते में न्यूनतम 1000 रु प्रति वर्ष जमा करने की आवश्यकता होती है अन्यथा इसे बंद खाते के रूप में माना जाएगा।

अधिकतम राशि - अधिकतम 1.5 लाख रु एक वित्तीय वर्ष में जमा हो सकते हैं (चाहे एकल अवसर पर या कई मौकों पर सौ के गुणकों में)। यह प्रति वर्ष अधिकतम सीमा से अधिक नहीं होनी चाहिए।

न्यूनतम कितने वर्ष धन जमा किया जाना चाहिए - न्यूनतम 14 साल के लिए धन जमा किया जाना चाहिए।

वार्षिक योगदान - आप हर साल अप्रैल में वित्तीय वर्ष की शुरुआत में वार्षिक योगदान कर सकते हैं।

निकासी - पूरे 21 वर्षों में इस खाते से कोई भी निकासी नहीं की जा सकती है।

तय राशि का योगदान - इस खाते में तय राशि जमा करना अनिवार्य नहीं है।

ऑनलाइन मुद्रा जमा सुविधा - ऑनलाइन धन सुकन्या समृद्धि खाते में जमा किया जा सकता है (ऑनलाइन बैंकिंग के माध्यम से ऑनलाइन स्थानान्तरण)। धन जमा के अन्य तरीके नकद / चेक / डिमांड ड्राफ्ट हैं।

यह खाता कहाँ खोलें - यह खाता डाकघर या किसी भी प्राधिकृत बैंकों में खोला जा सकता है। इस खाते को खोलने के लिए लगभग 28 बैंक अधिकृत हैं।

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज

सुकन्या समृद्धी अकाउंट को शुरुआती जमाराशि 1000 रु या अधिक के साथ खोला जा सकता है।

इसके लिए आवश्यक दस्तावेज हैं:

  • बालिका का जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पहचान प्रमाण, निवास प्रमाण पत्र
  • कानूनी अभिभावक के दो फोटो
  • जमाकर्ता के पते का प्रमाणपत्र जैसे पासपोर्ट, राशन कार्ड, बिजली बिल, टेलीफोल बिल आदि।
  • सुकन्‍या समृद्धि योजना का फॉर्म अाप पोस्‍ट ऑफिस या बैंंक से प्राप्‍त कर सकते हैं या https://rbidocs.rbi.org.in/rdocs/content/pdfs/494SSAC110315_A3.pdf यहां से डाउनलोड कर सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि खाते को कैसे सक्रिय रखें

100 रुपये के गुणांक के साथ एक वित्तीय वर्ष के लिए अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं। जमा राशियां एकमुश्त राशि में भी की जा सकती हैं। किसी महीने या किसी वित्तीय वर्ष में जमा राशि की कोई सीमा नहीं है।

बंद हो चुके सुकन्या समृद्धि खाते को दोबारा कैसे शुरू करें?

किसी भी वित्तीय वर्ष के दौरान बंद हो चुके सुकन्या समृद्धी खाता को दोबारा शुरू करने के लिए 50 रु का जुर्माना देकर इसे फिर से सक्रिय करने का प्रावधान है तथा एक वित्तीय वर्ष के लिए 1000 रु की न्यूनतम जमा राशि जमा करानी होगी।

सुकन्या समृद्धि खाता योजना के लाभ

  • सुकन्या समृद्धि योजना लड़कियों के आर्थिक सशक्तीकरण को बढ़ावा देती है। एक लड़की के वयस्क होने तक उसके अभिभावक द्वारा लड़की के नाम पर खाते में नियमित रूप से पैसे की बचत के साथ लड़की के लिए एक निश्चित वित्तीय सुरक्षा सुनिश्चित की जाती है।
  • 04.2017 से सुकन्या समृद्धि खाते के लिए ब्याज दर 8.4% है जिसकी वार्षिक आधार पर गणना की जाती है और सालाना चक्रवृद्धि होती है।
  • सुकन्या समृद्धी अकाउंट स्कीम में खाते में माता-पिता / संरक्षक द्वारा किया निवेश धारा 80 सी के तहत EEE के तहत आयकर से छूट है। EEE द्वारा इसका मतलब है कि मूल, ब्याज और परिपक्वता राशि को कर से छूट दी गई है।
  • लड़की की आयु दस वर्ष होने के बाद, जिसके नाम खाता है, खाते को संचालित कर सकती है। जब तक लड़की की उम्र दस साल न हो माता-पिता / अभिभावक खाते को संचालित करेगा।
  • खाता खोलने की तिथि से 21 वर्ष सुकन्या समृद्धि खाता की परिपक्वता है।
  • सुकन्या समृद्धी खाते के सामान्य समय से पहले बंद होने की अनुमति 18 साल के पूरा होने के बाद केवल तभी दी जाएगी जब लड़की का विवाह हो।
  • उच्चतर शिक्षा या शादी के खर्च के लिए खाताधारक की 18 वर्ष की आयु होने के बाद आंशिक निकासी के रूप में 50% तक की राशि ली जा सकती है।
  • ब्याज दर: समय-समय पर भारत सरकार द्वारा घोषित दर के अनुसार फ्लोटिंग ब्याज दर का भुगतान किया जाएगा।
  • परिपक्वता के बाद यदि खाता बंद नहीं है तो समय-समय पर योजना के लिए निर्दिष्ट ब्याज का भुगतान लगातार किया जाएगा।

सुकन्या समृद्धि खाता योजना की कमियां

  • गरीबी रेखा से नीचे कम से कम 10 करोड़ लोग हैं। बीपीएल श्रेणी के सभी परिवार कैसे खाता खोल पायेंगे और कैसे उसे चलाने में सक्षम हो पाएंगे? इसके अलावा बहुत गरीब और अशिक्षित लोगों को अपनी लड़कियों के लिए ऐसी बचत योजनाओं को समझने में मुश्किल हो सकती है।
  • खाते के लिए ब्याज दर भिन्न होती है तथा खाते में निवेश के लिए ब्याज की कोई निश्चित दर नहीं है।

(सुकन्या समृद्धि खाते के बारे में यहां दिए गये कई आंकड़े और विवरण महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार और भारतीय डाक विभाग की वेबसाइट पर डाली गई जानकारी पर आधारित हैं)

सुकन्या समृद्धि योजना के नियम | सुकन्या समृद्धि खाता योजना से जुड़े प्रश्न

1. अभिभावक को खोलना होगा अकाउंट : माता-पिता या कानूनी अभिभावक अधिकतम दो लड़कियों के लिए यह खाता खोल सकते हैं। जुड़वा या तीन बच्चियों का जन्म एक साथ होने की स्थिति में अधिकृत चिकित्सालयों से प्रमाण पत्र देने पर उन्हें भी योजना में शामिल किया जा सकेगा

2. उम्र की पात्रता : लड़की की उम्र 10 साल की होने तक सुकन्या समृद्धि अकाउंट खोला जा सकता है। यह योजना 2 दिसंबर 2014 को शुरू हुई थी। शुरुआत में सुविधा को ध्यान में रखते हुए ग्रेस पीरियड एक साल का रखा है। जो भी लड़की 2 दिसंबर 2003 और 1 दिसंबर 2004 के बीच जन्मी है, उसका अकाउंट भी एक दिसंबर 2015 तक खोला जा सकता है।

3. हितग्राही के नाम पर अकाउंट : सुकन्या समृद्धि योजना में लड़की के नाम पर ही अकाउंट खोला जा सकता है। जमाकर्ता (अभिभावक) एक व्यक्ति होगा, जो नाबालिग लड़की की ओर से अकाउंट में पैसा जमा करेगा।

4. एक लड़की एक अकाउंट : एक लड़की के नाम पर सिर्फ एक ही खाता खोला जा सकेगा।

5. अकाउंट कहां खुलेगा : सुकन्या समृद्धि अकाउंट पोस्ट ऑफिस या अधिकृत बैंकों (इनमें से कुछ बैंक हैं- भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, कैनरा बैंक, आंध्रा बैंक, यूसीओ बैंक और इलाहाबाद बैंक) में खोले जा सकते हैं।

6. अकाउंट ट्रांसफर हो सकता है : अकाउंट को एक हजार रुपए से खोला जा सकता है। लड़की के एक शहर से दूसरे शहर जाने पर इसे मूल स्थान से भारत के किसी भी शहर में ट्रांसफर किया जा सकता है।

7. न्यूनतम भागीदारी : हर साल में कम से कम एक हजार रुपए हर खाते में जमा होने चाहिए। अधिक से अधिक 1,50,000 रुपए जमा किए जा सकते हैं। एक वित्त वर्ष में कितनी बार पैसे जमा किए जाए, इस पर कोई पाबंदी नहीं है। पैसे नगद, चेक या ड्राफ्ट के जरिए जमा किए जा सकते हैं।

8. अर्थदंड : यदि खाते में हर साल न्यूनतम राशि जमा नहीं कराई गई तो 50 रुपए का अर्थदंड लगाया जाएगा।

9. ब्याज की दर : इस योजना में ब्याज की दर 9.1 प्रतिशत प्रति वर्ष रखी गई है। हालांकि, हर साल अप्रैल में इसकी समीक्षा होगी और जो भी बदलाव होगा उसकी जानकारी तत्काल दे दी जाएगी। ब्याज की गणना सालाना होगी, जिसे सीधे बैंक खाते में जमा करवाया जाएगा।

10. अवधि : अभिभावक इस अकाउंट में 14 साल पूरे होने तक ही पैसे जमा करवा सकते हैं। उसके बाद अकाउंट के परिपक्व होने तक कोई राशि जमा करने की जरूरत नहीं है।

11. निकासी : लड़की की उम्र 18 साल होने के बाद अकाउंट परिपक्व हुए बिना यदि पैसे निकालना है तो जमा की हुई राशि (पूर्व वित्त वर्ष के समाप्ति की राशि) का 50 प्रतिशत निकाले जा सकते हैं।

12. अकाउंट बंद करना : लड़की की उम्र 21 वर्ष होने पर ही अकाउंट बंद किया जा सकेगा। यदि इसके बाद भी पैसा नहीं निकाला जाता तो उस पर ब्याज मिलता रहेगा।

13. कराधान : आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत छूट में शामिल। इस धारा के तहत सालाना 1.5 लाख रुपए तक के निवेश पर कर में छूट मिलती है। ब्याज और पूर्ण परिपक्वता राशि समेत सभी तरह के भुगतान पूरी तरह से करमुक्त हैं।

सरकार द्वारा महिलाओं के विकास के लिए कई कार्य किये जा रहे हैं | बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना को जानने के लिए नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करें।

बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ योजना | Beti Bachao Beti Padhao Mission | Caring for the Girl Child

क्या खाता खोलने की सुविधा एनआरआई के लिए भी है?

इस खाते को खोलने के लिए प्रवासी भारतीय (एनआरआई) के लिए कोई गुंजाइश नहीं है लेकिन अभी तक इस पर कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की गई है।

सुकन्या समृद्धि खाता योजना Sukanya Samriddhi Khata Yojana एक अच्छी योजना है जल्द से जल्द अपनी बेटी का खाता खोले।

सुकन्या समृद्धि खाता (Sukanya Samriddhi SSA in Hindi) कन्या के भविष्य को सुरक्षित रखने हेतु लागू किया गया हैं |बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के तहत सुकन्या समृद्धि खाता एक महत्वपूर्ण निर्णय हैं।

तो दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस Facebook पर Share अवश्य करें! अब आप हमें Facebook पर Follow कर सकते है !  क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

Good luck

You may be intrested in

A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):