A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 121 Countries as of NOW.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ योजना | Beti Bachao Beti Padhao Mission | Caring for the Girl Child


beti bachao beti padhao

बेटी बचा ओ बेटी पढ़ाओ (BBBP): योजना अपने शब्दों से फिट बैठती है। इसका मतलब यह है की भारतीय महिलाओं के कल्याण के लिए सेवाओं की दक्षता में सुधार तथा जागरूकता उत्पन्न करना है। BBBP योजना हरियाणा राज्य के पानीपत जिले में 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गयी थी।

क्या है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का उद्देश्य बालिका लिंग अनुपात में हो रही गिरावट और महिलाओं के सशक्तिकरण के संबंधित मुद्दों को बढ़ावा देना हैं ताकि महिलाओं की जीवन शैली को सुधारा जा सके।

यह भारत सरकार के मंत्रालयों की एक त्रि-मंत्रालयी प्रयास है

  • महिला बाल विकास
  • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण
  • मानव संसाधन विकास

भारत की 2001 में जनगणना के समय 0-6 वर्ष के बच्चों का अनुपात 1000 लड़कों पर 927 लड़कियां थी जो 2011 में गिरकर 1000 लड़कों पर केवल 918 लड़कियां ही रह गयी हैं | UNICEF के आकड़ों के अनुसार 2012 में भारत 195 देशों की श्रेणी में 41 वें स्थान पर था

अजन्मे बच्चे के लिंग का पता लगाने वाले आधुनिक उपकरणों की उपलब्धता से कन्या भ्रूण हत्या के मामले बहुत तेजी से बढ़े हैं। आर्थिक फायदों को लेकर लड़कों के प्रति सामाजिक पक्षपात होता रहा है। समाज में गहरे तक यह बात बैठी हुई है कि लड़कियों के साथ बड़ी जिम्मेदारी आती है। इन कारणों से लिंगानुपात को नुकसान पहुंचा है।

कुछ स्थानीय पहल

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत पिथौरागढ़ जिले ने बालिका शिशु को बचाने और उनकी शिक्षा के विभिन्न उपाय किए हैं। जिला कार्यबल और ब्लॉक कार्यबल गठित किए गए हैं। इन संगठनों की बैठकें आयोजित की गई हैं और शिशु लिंग अनुपात से संबंधित स्पष्ट रूपरेखा तैयार कर ली गई है। बड़े स्तर पर समुदाय के लोगों से संपर्क करने के लिए और इस योजना का व्यापक रूप से प्रचार करने के लिए जागरूकता बढ़ाने से संबंधित कार्यकिलाप चलाए जा रहे हैं। विभिन्न स्कूलों, सैनिक स्कूलों तथा सरकारी विभागों कर्मचारियों इत्यादि की प्रमुख भागीदारी से विभिन्न रैलियां आयोजित की गई हैं।

पंजाब के मानसा जिले ने एक पहल शुरू की है जिसमें वह जिले के लोगों को अपनी लड़कियों को पढ़ाने के लिए प्रेरित करते हैं। ‘उडान – सपने दी दुनिया दे रूबरू (उडान – एक दिन के लिए अपने सपने को जिएं)’ योजना, के तहत मानसा प्रशासन छठी से बारहवीं कक्षाओं की छात्राओं से प्रस्ताव आमंत्रित करता है। इन छात्राओं को उस प्रोफेशनल के साथ एक दिन बिताने का अवसर मिलता है जो वे अपने जीवन में बनना चाहते हैं जैसे – डॉक्टर, पुलिस अधिकारी, इंजीनियर, आईएएस और पीपीएस अधिकारी और अन्य।

beti bachao beti padhao

बेटी पढ़ाओ का मुख्य उद्देश्य (Aim Of Beti Bachao Beti Padhao Yojana)

1. कन्या भ्रूणहत्या को रोकना

2. बेटियों की सुरक्षा

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ (Beti Bachao Beti Padhao)ना केवल कन्या भ्रूणहत्या को रोकने के लिए अपितु बेटियों की रक्षा के लिए भी शुरू किया गया हैं। आये दिन छेड़-छाड़, बलात्कार जैसे घिनौने अपराध बढ़ रहे हैं इनको नियंत्रित करने हेतु भी अहम् निर्णय लिए गए हैं।

योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सुविधाएँ (Features Of Beti Bachao Beti Padhao Yojana)

1. सुरक्षा:

आज महिलायें देश के किसी भी कौने में सुरक्षित नहीं हैं इसलिए उनकी सुरक्षा के लिए विशेष कदम उठाये जा रहे हैं जिसके लिए 50 करोड़ का फंड दिया जायेगा जिसमे मुख्यतः महिलाओं के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सुविधा दी जाएगी।

2. अलर्ट बटन :

एक बटन हैं जिसके जरिये संदेश / message, आवाज संदेश/ voice message साथ ही images के जरिये सुरक्षा हेतु मदद मांगने की सुविधा दी जाएगी।

3. संकट प्रबंधन केंद्र :

अगर कोई दुर्घटना हो गई है तो इस स्थिती में उचित कार्यवाही हेतु संकट प्रबंधन केंद्र की सुविधा दी जाएगी।

जनता की जागरूकता हेतु प्रयास :

सरकार द्वारा योजनायें तो बहुत बनाई एवं लागू की जाती हैं पर जनता उन पर कितना ध्यान देती है इस दिशा में कोई उपयुक्त कार्य नहीं किये जाते इस हेतु कई विज्ञापन, स्लोगन एवम पोस्टर बनाये गए हैं जिसके जरिये बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के प्रति जनता की जागरूकता बढ़े।

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana)

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के अंतर्गत दी जाने वाली यह सबसे महत्वपूर्ण योजना हैं। यह एक बैंक खाता हैं जो 10 वर्ष से कम उम्र की बेटियों के लिए शुरू किया गया हैं। सुकन्या समृद्धि खाता/ अकाउंट बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओ योजना की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी हैं जो कि कन्या के भविष्य को सुरक्षित करती हैं।

ब्रांड एम्बेसडर (Brand Ambassdor Of Beti Bachao Beti Padhao Yojana)

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ Beti Bachao Beti Padhao Yojana की सफलता के लिए और इसके प्रति लोगो को जागरूक करने के लिए इस योजना का ब्रांड एम्बेसडर बॉलीवुड महा नायिका माधुरी दीक्षित को बनाया गया

हरियाणा में अगस्त 2016 में ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक को ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ‘ योजना की प्रेरणा के लिये ब्रांड एंबेसडर बनाया गया था।

व्यक्तिगत रूप से योगदान दे

  • परिवार और समुदाय में बालिकाओं के जन्म पर ख़ुशी मनाना।
  • बेटियां गर्व हैं और उन्हें ‘बोझ ‘ और ‘पराया धन’ की मानसिकता का विरोध करना।
  • लड़कों और लड़कियों के बीच समानता को बढ़ावा देने के तरीके खोजना।
  • स्कूलों में बालिकाओं के सुरक्षित प्रवेश के लिए पुरुषों और लड़कों के लिंग छवि और भूमिकाओं को चुनौती देना।
  • अपने बच्चों को शिक्षित और जागरूक करना की समाज के बराबर सदस्यों के रूप में महिलाओं और लड़कियों का सम्मान करना।
  • लिंग निर्धारण परीक्षण की किसी भी घटना की रिपोर्ट।
  • महिलाओं और लड़कियों के लिए पड़ोस सुरक्षित और हिंसा-मुक्त बनाने के लिए प्रयास करना।
  • परिवार और समुदाय के भीतर दहेज और बाल विवाह का विरोध सरल शादियों को बढावा देना।
  • महिलाओं के अधिकार का समर्थन मालिकाना हक़ और संपत्ति में वारिस के लिए स्थान।
  • महिलाओं को बाहर जाने के लिए प्रोत्साहित करें, उच्च शिक्षा, काम को आगे बढ़ाने, व्यापार करने, स्वतंत्र रूप से सार्वजनिक स्थलों पर जाना आदि।
  • उसकी बातों का ध्यान रखें और महिलाओं और लड़कियों के प्रति संवेदनशील रहें।

हम सबको मिल के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का साथ देना चाहिए और काम से काम अपने आस पास माता बहनो का सम्मान करना चाहिए। बेटा और बेटी में कोई फर्क नहीं करना चाहिए। मिल के सबको देश को आगे बढ़ाना चाहिए. जय हिन्द जय भारत

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की अधिक जानकारी के लिए पीडीऍफ़ (PDF) यहाँ से डाउनलोड करें।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर स्लोगन – Slogans on Save Girl Child

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ |

जिस घर में होता बेटी का सम्मान, वह घर होता स्वर्ग समान । 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, समाज को प्रगति के रास्ते ले जाओ ।

बेटियों को बराबरी का दर्जा दीजिये, समाज में जागरूकता फैलाइये । 

बेटी नहीं है किसी से कम, बेटी से देश को मिलेगा दम । 

बेटी बढ़ेगी तो देश बढ़ेगा । 

स्वर्ग में चाहते हो स्थान, नारी का करो सम्मान ।

बेटी है स्वर्ग की सीढ़ी, वह पढ़ेगी , तो बढ़ेगी अगली पीढ़ी । 

विकसित राष्ट्र की हो कल्पना, बेटियों को होगा पढ़ना । 

राष्ट्र को प्रगति के रास्ते हो ले जाना, नारी को बराबरी का दर्जा होगा देना । 

जहाँ होता नारी का प्रतिनिधित्व, वहाँ बनता विकास का प्रतिबिंब । 

नारी है नारायणी, नारी ही परिवार की कल्याणी । 

नारी को बराबरी का प्रतिनिधित्व दीजिये, देश को विकास के पथ पर दौड़ाइए । 

जिस देश में होता है नारी का सम्मान, वह देश होता है स्वर समान । 

अगर यह जानकारी आपको पसंद आयी है तो कृपया इसे share अवश्य करे।

You may be intrested in

A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):