A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 121 Countries as of NOW.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

भिखारी मुक्त हो भारत ! - मोदी सरकार उठाये यह जरुरी कदम | Steps to make Beggars free India


campaign-beggars-free-india

भिक्षावृत्ति देश के लिए ही नहीं बल्कि किसी सभ्य समाज के लिए भी कलंक है. लेकिन भारत में ये समस्या कम होने के बजाए दिनोंदिन बढ़ती ही जा रही है। …

आप सुबह सुबह घर से चाहे मंदिर, मस्जिद या गुरूद्वारे के लिए निकले अथवा काम के सिलसिले में बाहर, आपको हर जगह एक ही आवाज सुनने को मिलती है – अल्लाह के नाम पर दे दे – बाबा के नाम पर देदे. जैसे जैसे हम रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्ड या बाजार की ओर बढ़ते हैं और यह स्वर और तेज होता जाता है।

देश के प्रमुख चौराहों और सड़कों का यह इस दृष्य को देखकर लगता है कि मानों भारत एक भिखारियों का देश है।

जिस देश में दान की एक बड़ी गौरवशाली और अद्वितीय परमपरा रही हो उस देश में अगर लाखों लोग सुबह सुबह सड़को पर भीख मांगने के लिए निकल पड़े तो आप स्वय ही अंदाजा लगा सकते हैं कि परिद्रश्य कैसा होगा. एक ऐसा द्रश्य जिसे न तो कोई देश से आने वाला सैलानी देखना पंसद करेगा और न ही हम भारत के लोग।

भिखारी दिन में कमाता हैं और रात में मस्ती कर सारा पैसा उड़ा देता है. बिना मेहनत किए ही जब मौज मस्ती के लिए पैसा आसानी मिल जा रहा है तो कामचोर लोगों में इसके प्रति रूझान भी बढ़ रहा है। यही वजह है कि भीख मांगना आज एक प्रकार का धंधा बन गया हैं।

धंधा बनने से इसमें कुछ गिरोहों भी सक्रिय हो गए हैं, जो इसको संगठित रूप देकर लोगों से भीख मंगवाने का कार्य कर रहे हैं. इस गिरोह में अपंग लोगों और बच्चों का भी खूब इस्तेमाल किया जाता है. गिरोह में शामिल लोग बच्चे का अपहरण कर उनसे भीख मंगवाते हैं.यदि बच्चे भीख नहीं मांगते हैं तो उन्हें मारा पीटा जाता हैं. बच्चो का अपहरण कर उन्हें विकलांग बनाकर उनसे भीख मंगवाई जाती हैं. दरअसल, यह एक बिना पूंजी का धंधा हैं, जिसमें बिना कोई पैसा लगाए पैसा कमाया जाता हैं ।

लेकिन इन तमाम बातों के अलावा भिक्षावृत्ति भारत के माथे पर ऐसा कलंक है जो हमारे आर्थिक तरक्की के दावों पर सवाल खड़ा करता है. भीख मांगना कोई सम्मानजनक पेशा नहीं बल्कि अनैतिक कार्य और सामाजिक अपराध है। खासकर जब किसी गैंग या माफिया द्वारा जबरन बच्चों, महिलाओं या किसी से भी भीख मंगवायी जाती है तब यह संज्ञेय कानूनन अपराध की श्रेणी में आ जाता है

लिहाजा अब समय आ गया है कि भीख मांगने को जिस प्रकार गिरोह बनाकर संगठित रूप से अंजाम दिया जा रहा है उसको देखते हुए अब इन भिखारियों पर सख्ती किए जाने की आवश्यकता है. निकम्मे और कामचोर बने बैठे इन भिखारियों को किसी न किसी काम में लगाए बिना देश का कल्याण संभव नहीं है. सामाजिक चेतना को बढ़ावा देने साथ साथ बेरोजगारी, गरीबी, आदि के उन्मूलन के अलावा इसके निवारण के लिए सरकार को भिखारियों के गिरोहों के खिलाफ कड़ी कारवाई करनी चाहिए

मोदी सरकार उठाये यह जरुरी कदम

तो आइये आज हम आपको बताते हैं कि भारत भिखारी मुक्त देश बनाने के लिए मोदी सरकार को क्या जरुरी कदम उठाने चाहिए

1 – जाँच और सुधार शिविर देश के हर राज्य में या फिर दिल्ली-मुंबई जैसे राज्य में बड़े शिविर बनाने चाहिए जहाँ भिखारियों को पकड़ कर रखा जाए और उनको यहाँ सुधारने की कोशिश की जाए. मात्र एक तो साल में यह लोग सुधरने वाले नहीं हैं. इन भिखारियों को सालों तक ईलाज की जरूरत होगी. इसके बाद इनको आत्मस्वाभिमान जैसी बातों का महत्व सिखाया जाए.

2 – सरकार को उनको हुनर सिखाना होगा इन भिखारियों को सबसे पहले कुछ काम करना सिखाना होगा. अपना व्यवसाय या कहीं पर इनकी नौकरी लगाकर इनको रोजगार से जोड़ना होगा. जब तक यह लोग रोजगार करना नहीं सीखते हैं तब तक इनको भीख की दुनिया से बाहर नहीं निकाला जा सकता है. समस्या बड़ी है इसलिए बड़ी सोच के साथ सरकार को काम करना होगा.

3 – गिरोह हो जायें बर्बाद अभी भिखारियों की ताकत इनके गिरोह हैं. यह गिरोह शहरों में बड़े-बड़े लोग चला रहे हैं. गिरोह भी छोटे नहीं होते हैं. कई गिरोह तो पूरे राज्य में क्राइम को हैंडल तक करते हैं. दिन में भीख तो रात में डकैती, चोरी और हत्या करने में इन भिखारियों को कोई डर नहीं लगता है. इसलिए इन भिखारियों के गिरोह को जल्दी से जल्दी खत्म किया जाए.

4 – भिखारी मुक्त भारत का बने मंत्रालय यदि मोदी सरकार भारत भिखारी मुक्त देश बनाना चाहती है तो उसके लिए सबसे पहले एक मंत्रालय का गठन हो और तब भिखारी मुक्त भारत की रुपरेखा को तैयार किया जाए. सबस पहले तो मंत्रालय को इस मुहीम के लिए शुरुआत से लेकर अंत तक की समस्याओं का अध्ययन करना होगा. यह काम जितना छोटा लगता है उतना है नहीं और अगर भारत भिखारी मुक्त हो जाता है तो इसके बाद देश की जनता भी सालों तक मोदी सरकार को याद रखेगी.

भिखारियों की बढ़ती समस्या की जड़ में है पूंजीवाद !

समाज में भिखारियों की संख्या बढना कोई अचरज की बात नहीं, ना ही इसका कोई अनोखा कारण है. दरअसल, देश का जनतांत्रिक सिस्टम शायद इनके बढ़ावे को प्रेरित करता है. देश की पूंजीवाद नीति के चलते गरीब तबका पीछे रह गया, लिहाजा जीवन-यापन के लिए कोई साधन न मिलने पर भीख मांगना शुरू कर दिया

यह वीडियो आपकी सोच बदल देगा !

हम जो वीडियो आपको दिखा रहे हैं वो आपके द्वंद को दूर कर देगा, आपकी सोच को बदल देगा । इस वीडियो के बाद आपको फैसला करने में देर नहीं लगेगी कि किसे देना चाहिए किसे नहीं।

भिखारी मुक्त भारत के सपने को साकार कर सकता है स्किल इंडिया

नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की योजना स्किल इंडिया प्रोगाम भारत में भिखारियों की बढ़ती समस्या से निपटने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है.

इस तरह से ख़त्म हो सकती है भारत के भिखारियों की समस्या – यदि सरकार शुरूआत में इसको 50 प्रतिशत भी कर ले गई तो देश को भिखारियों की समस्या से काफी हद तक छुटकारा मिल जाएगा.

हम उम्मीद करते हैं कि आप हमारी इस मुहीम को घर-घर तक पहुचाने में हमारा सहयोग करेगा. साथ ही साथ हम उम्मीद करते हैं कि यह आवाज सरकार तक पहुंचे ताकि इस दिशा में कोई निर्णायक पहल शुरू हो. आने वाले समय में हम भारत को भिखारी मुक्त देख सकें.

Refrence

Jai Hind!

You may be intrested in

A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):