A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 121 Countries as of NOW.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

भारतीय इतिहास की प्रमुख घटनाएँ | Important Events in Indian History


important-events-in-indian-history

दोस्तों आज हम आपके लिए लेकर आए हैं भारतीय इतिहास से संबंधित महत्वपूर्ण तिथियां तथा घटनाओं का संग्रह जिसे पढ़कर आप भारतीय इतिहास से संबंधित विभिन्न जानकारियां जुटा पाएंगे। …

भारतीय इतिहास की प्रमुख घटनाएं...

यहां उल्लेखनीय है कि हमारे देश भारत का इतिहास इतना अधिक विस्तृत है कि उसे कुछ पन्नों में उद्घाटित करना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन भी है. इतिहास में ज्ञात सिन्धु घाटी सभ्यता के उद्भव से लेकर देश में नरेन्द्र मोदी की सरकार के बनने तक की घटनाओं में सैकड़ों ऐसी घटनाएँ हैं, जिनका उल्लेख किए बिना इतिहास के साथ न्याय नहीं किया जा सकता है. परन्तु उन सभी का यहां उल्लेख करना संभव नहीं है, इसलिए हम केवल उन महत्वपूर्ण घटनाओं का उल्लेख करेंगे

भारत के इतिहास की कुछ प्रमुख घटनाएँ इस प्रकार हैं.

सिंधु घाटी सभ्यता का विकास

वर्ष : ईसा पूर्व 3300-1700

वर्णन : भारत के इतिहास की प्रमाणिक जानकारी यहीं से शुरू होती है. इस सभ्यता का विकास सिंधु और सरस्वती नदी के किनारे हुआ था. मोहनजोदड़ो, कालीबंगा, लोथल, हड़प्पा, राखीगढ़ी और धोलावीरा इस सभ्यता के प्रमुख केंद्र थे.

भगवान महावीर का जन्म

वर्ष : ईसा पूर्व 599

वर्णन : भगवान महावीर का जन्म वैशाली गणतंत्र के क्षत्रिय कुण्डलपुर में हुआ था. इन्होंने अपने उपदेशों के माध्यम से दुनिया का मार्गदर्शन किया था. ईसा पूर्व 523 में इन्हें मोक्ष प्राप्त हुआ था.

गौतम बुद्ध का जन्म

वर्ष : ईसा पूर्व 563

वर्णन : गौतम बुद्ध का जन्म शाक्य गणराज्य की तत्कालीन राजधानी कपिलवस्तु के निकट लुम्बिनी नामक स्थान पर हुआ था. इन्हें अपने समय का महान दार्शनिक, वैज्ञानिक और समाज सुधारक माना जाता है. आज दुनियाभर में बौद्ध धर्म को मानने वाले इनके अनुयायी फैले हुए हैं.

सिकंदर महान का भारत आगमन

वर्ष : ईसा पूर्व 327-26

वर्णन : यूनान के शासक सिकंदर को भारत पर पहला विदेशी आक्रान्ता माना जाता है. हालाँकि सिकंदर भारत को तो जीत नहीं सका, परन्तु उसके भारत आगमन से यूरोप व भारत के बीच जमीनी मार्ग की शुरुआत अवश्य हुई.

मौर्य वंश की स्थापना

वर्ष : ईसा पूर्व 269-232

वर्णन : यह काल भारत के प्रतापी राजा अशोक के शासन का था. मौर्य शासक अशोक चक्रवर्ती राजा थे और उन्होंने अपने प्रताप से भारत को एक सूत्र में बांधा था. इनके शासनकाल में ही कलिंग का युद्ध (ईसा पूर्व 261) हुआ था, जिसके बाद युद्ध की विभीषिका से विचलित होकर अशोक ने अहिंसा का मार्ग अपना लिया था.

विक्रम संवत की शुरुआत

वर्ष : ईसा पूर्व 57-30

वर्णन : यह काल भारतीय इतिहास में कई महत्वपूर्ण घटनाओं का गवाह बना. विक्रम संवत की शुरुआत हुई. दक्षिण में सातवाहन तथा पंडया वंश का उदय हुआ.

गुप्त वंश का उदय

वर्ष : 320 ईसवी

वर्णन : मौर्य वंश के पतन के बाद भारत में राजनीतिक शून्यता आ गई थी. इस शून्यता को गुप्त वंश के शासकों ने भरा और भारत में एक शक्तिशाली राजवंश की स्थापना की. गुप्त वंश के इस काल को भारत का स्वर्ण युग माना जाता है.

हिन्दूवाद का पुर्नजागरण

वर्ष : 380-413 ईसवी

वर्णन : इस काल में भारत में चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य का शासन था. साहित्य के उपासक कालीदास का भी यह काल था.

हिन्दू शासन का प्रभाव

वर्ष : 606-645 ईसवी

वर्णन : यह काल समस्त भारत पर राज करने वाले हिन्दू शासक हर्षवर्धन का शासनकाल था. इसी समय चीनी यात्री ह्वेनसांग ने भारत की यात्रा की थी. हर्षवर्धन अंतिम हिन्दू शासक थे, जिन्होंने पंजाब को छोड़कर समस्त भारत पर शासन किया था.

हिजरी काल की शुरुआत

वर्ष : 622 ईसवी

वर्णन : इसकी शुरुआत तब से मानी जाती है, जब हज़रत मोहम्मद ने मक्का से मदीना की ओर प्रवास किया था. यह एक चन्द्र कालदर्शक है, जिसका प्रयोग न केवल मुस्लिम देशों में किया जाता है बल्कि दुनिया भर के मुसलमान इस कालदर्शक का उपयोग अपने त्योहारों की गणना के लिए करते हैं.

अरबों का आक्रमण

वर्ष : 712 ईसवी

वर्णन : इसी वर्ष पश्चिम में सिंध पर अरब आक्रमणकारियों ने मुहम्मद बिन कासिम के नेतृत्व में आक्रमण किया था.

महमूद गजनवी का आक्रमण

वर्ष : 1025 ईसवी

वर्णन : अरब आक्रमणकारी महमूद गजनवी ने भारत पर भीषण हमला कर देश के पश्चिमी भाग में भारी लूटपाट मचाई थी, और प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर को लूट कर उसे तहस-नहस कर डाला था.

तराइन का प्रथम युद्ध

वर्ष : 1191 ईसवी

वर्णन : भारतीय शासक पृथ्वीराज चौहान और अरब आक्रांता मुहम्मद गौरी के बीच तराइन में युद्ध हुआ था, जिसमें मुहम्मद गौरी की हार हुई थी.

तराइन का द्वितीये युद्ध

वर्ष : 1192 ईसवी

वर्णन : एक बार फिर भारी तैयारी के साथ मुहम्मद गौरी ने भारत पर आक्रमण किया और तराइन के मैदान में पृथ्वीराज चौहान के साथ युद्ध किया. इस युद्ध में पृथ्वीराज चौहान को पराजय का सामना करना पड़ा था.

गुलाम वंश की स्थापना

वर्ष : 1206 ईसवी

वर्णन : कुतुबद्दीन ऐबक द्वारा भारत में गुलाम वंश की स्थापना की गई. कुतुबद्दीन ऐबक मुहम्मद गौरी का एक गुलाम सैनिक था, जिसे गौरी ने भारत में विजय के बाद यहां का बादशाह बनाया था. इस वंश का दिल्ली पर 1290 ईसवी तक शासन रहा.

यूरोपियन द्वारा भारत की खोज

वर्ष : 1497-98 ईसवी

वर्णन : वर्ष 1497 में पुर्तगाली यात्री वास्को डी गामा भारत की खोज पर निकले और लगभग एक वर्ष की यात्रा के बाद वह 1498 में केरल के कालीकट के तट पर पहुंचे. किसी भी यूरोपियन का भारत की धरती पर यह पहला प्रमाणिक कदम माना जाता है.

मुगल सम्राज्य का उदय

वर्ष : 1526 ईसवी

वर्णन : इस वर्ष महान मुग़ल शासक अकबर दिल्ली की सत्ता पर आसीन हुए थे. उन्हें केवल भारत के एक महान शासक के तौर पर ही नहीं, बल्कि उन्हें एक नए धर्म दीन-ए-इलाही को चलाने के लिए भी जाना जाता है.

ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना

वर्ष : 1600 ईसवी

वर्णन : भारत के साथ व्यापार बढ़ाने के लिए 31 दिसम्बर 1600 को ब्रिटेन में ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना की गई थी. ब्रिटेन की महारानी ने इस कंपनी को भारत के साथ व्यापार करने के लिए 21 वर्षों की छूट दी थी.

यूनाइटेड डच ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना

वर्ष : 1602 ईसवी

वर्णन : यूरोप से भारत आनेवाली नीदरलैंड की एक यह पहली व्यापारिक कंपनी थी. इस कंपनी का मुख्य उद्देश्य भारत के मसाला बाज़ार पर कब्ज़ा जमाना था.

ब्रिटिश सेना का भारत आगमन

वर्ष : 1608-1612 ईसवी

वर्णन : वर्ष 1608 में ब्रिटिश सेना की पहली टुकड़ी सूरत के तट पर पहुंची. यहीं पर वर्चस्व के लिए अंग्रेजों और पुर्तगालियों के बीच संघर्ष की शुरुआत हुई. यह संघर्ष लगभग चार वर्षों तक चलता रहा था.

भारत पर ब्रिटिश शासन की शुरुआत

वर्ष : 1668 ईसवी

वर्णन : ब्रिटिश सेना ने बॉम्बे पर कब्ज़ा किया, और ब्रिटेन के राजकुमार चार्ल्स द्वितीये ने ईस्ट इंडिया कंपनी को बॉम्बे का शासन सौंपा गया.

कलकता शहर की स्थापना

वर्ष : 1690 ईसवी

वर्णन : ब्रिटिश अधिकारी जॉब चारनोक ने कलकता शहर की नीव रखी.

नादिर शाह का आक्रमण

वर्ष : 1739 ईसवी

वर्णन : ईरानी बादशाह नादिर शाह ने भारत पर आक्रमण किया. करनाल में दिल्ली के मुग़ल बादशाह मुहम्मद शाह और नादिर शाह के बीच युद्ध हुआ, और मुहम्मद शाह की पराजय हुई. नादिर शाह ने दिल्ली पर कब्ज़ा किया.

प्लासी की लड़ाई

वर्ष : 1757 ईसवी

वर्णन : रोबर्ट क्लाईब के नेतृत्व में ब्रिटिश सेना ने भारत विजय अभियान शुरू किया. इसके पहले चरण में ब्रिटिश सेना के नायक रोबर्ट क्लाईब ने बंगाल पर आक्रमण किया, और मुर्शिदाबाद के नजदीक प्लासी के मैदान बंगाल के शासक सिराजुदौला की सेना के साथ उसकी मुठभेड़ हुई. इस युद्ध में सिराजुदौला की हार हुई, और बंगाल पर अंग्रेजों ने अधिकार कर लिया.

पानीपत का तीसरा युद्ध

वर्ष : 1761 ईसवी

वर्णन : 14 जनवरी 1761 को पानीपत के मैदान में भारतीय राजा महाराणा प्रताप और अफगानी शासक अहमद शाह अब्दाली के बीच युद्ध हुआ. इस भीषण युद्ध में महाराणा प्रताप की हार हुई. इससे पूर्व के पानीपत के दो युद्धों में अफगानी सेना को महाराणा प्रताप की सेना के हाथों शिकस्त मिली थी.

खालसा पंथ की स्थापना

वर्ष : 1801 ईसवी

वर्णन : सिख शासक महाराजा रणजीत सिंह ने लाहौर में खालसा पंथ की स्थापना की, और कश्मीरी पंडितों के साथ मिलकर खैबर दर्रे के रास्ते अफगानिस्तान पर हमला किया.

अमृतसर की संधि

वर्ष : 1809 ईसवी

वर्णन : ईस्ट इंडिया कंपनी ने पंजाब के अमृतसर में महाराजा रणजीत सिंह के साथ संधि कर, यहां अपनी व्यापारिक गतिविधि को बढ़ाया.

सती प्रथा पर रोक

वर्ष : 1829 ईसवी

वर्णन : समाज सुधार के क्रम में कदम बढ़ाते हुए ब्रिटिश सरकार ने हिन्दू विधवाओं के पति के साथ जलती चिता में ख़ुदकुशी करने की प्रथा यानि सती प्रथा पर रोक लगा दी.

प्रथम स्वतंत्रता संग्राम

वर्ष : 1857-58 ईसवी

वर्णन : मंगल पांडे के नेतृत्व में ब्रिटिश शासन के विरुद्ध ब्रिटिश सेना के भारतीय सिपाहियों ने विद्रोह का बिगुल फूंका. हालाँकि ब्रिटिश सरकार ने इस विद्रोह को ‘सिपाही विद्रोह’ कहा था, परन्तु इतिहासकारों ने इसे ‘प्रथम स्वतंत्रता संग्राम’ का नाम दिया. इस विद्रोह के दौरान विद्रोहियों ने अंतिम मुग़ल शासक बहादुरशाह ज़फर को दिल्ली की गद्दी पर बैठा दिया था. परन्तु जल्दी ही अंग्रेजों ने विद्रोह पर काबू कर दिल्ली पर पुनः कब्ज़ा जमा लिया.

भारत सरकार अधिनियम

वर्ष : 1858 ईसवी

वर्णन : अगस्त 1858 में ब्रिटिश सरकार ने ईस्ट इंडिया कंपनी से भारत का शासन अपने हाथों में ले लिया, और फिर 1877 में ब्रिटेन की महारानी को भारत का शासक घोषित कर दिया गया.

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना

वर्ष : 1885 ईसवी

वर्णन : भारत में ब्रिटिश शासन को राजनीतिक आधार देने के उद्देश्य से एक अंग्रेज अधिकारी ए ओ ह्रूम के नेतृत्व में 28 दिसम्बर 1885 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना की गई. बाद के वर्षों में एक राजनीतिक दल के रूप में इसकी भारत के स्वतंत्रता संग्राम में मुख्य भूमिका रही.

बंगाल विभाजन

वर्ष : 1905 ईसवी

वर्णन : अंग्रेजी सरकार ने ‘बांटो और शासन करो’ की नीति के अंतर्गत बंगाल को हिन्दू और मुस्लिम बहुल इलाके के आधार पर दो भागों- पूर्वी बंगाल और पश्चिम बंगाल में विभाजित किया.

महात्मा गांधी का उदय और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत

वर्ष : 1916 ईसवी

वर्णन : स्वतंत्रता के लिए छटपटा रहे भारत में एक नए नायक का उदय हुआ. अफ्रीका में रहते हुए अंग्रेजों के अत्याचारों से विचलित मोहनदास करमचंद गाँधी ने भारत आकर स्वतंत्रता संग्राम की बागडोर संभाली. सत्याग्रह और अहिंसा को मूलमंत्र बनाकर गाँधी ने भारत को ब्रिटिश शासन से अंततः मुक्ति दिलाने में सफलता प्राप्त की.

भारतीय स्वतन्त्रता आंदोलन और भारत की आज़ादी

वर्ष : 1917 ईसवी – 1948 ईसवी

वर्ष घटनाएँ
1917 ईसवी चम्पारण और खेड़ा सत्याग्रह
1919 ईसवी जालियांवाला कांड, रोल्लेट एक्ट और मोंतागु-चेम्सफोर्ड सुधार.
1920 ईसवी असहयोग आंदोलन और खिलाफत आंदोलन की शुरुआत.
1922 ईसवी चौरीचौरा की घटना
1927 ईसवी साइमन कमीशन का भारत आगमन
1929 ईसवी सेंट्रल असेंबली में भगत सिंह और बटुकेश्वर दत्त द्वारा बम फेंका गया. कांग्रेस द्वारा पूर्ण स्वराज की मांग.
1930 ईसवी दांडी से नमक सत्याग्रह और सविनय अवज्ञा आंदोलन की शुरुआत.
1931 ईसवी गाँधी-इरविन समझौता. भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को फांसी. लंदन में पहला गोलमेज सम्मेलन.
1932 ईसवी पूना समझौता, लंदन में दूसरा गोलमेज सम्मेलन.
1942 ईसवी मार्च में क्रिप्स मिशन का भारत आगमन. भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुआत. सुभाषचंद्र बोस द्वारा इंडियन नेशनल आर्मी का गठन.
1947 ईसवी ब्रिटिश सरकार द्वारा भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम बिल पारित. भारत का विभाजन. भारत का एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में उदय.

महात्मा गाँधी की हत्या और देशी रियासतों का भारत में विलय

वर्ष : 1948 ईसवी

वर्णन : 30 जनवरी को महात्मा गाँधी की हत्या. कश्मीर पर अधिकार को लेकर भारत-पाकिस्तान में सीमित युद्ध. गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल के नेतृत्व में देशी रियासतों का भारत में विलय.

दुनिया के नक़्शे पर भारतीय गणराज्य का उदय

वर्ष : 1950 ईसवी

वर्णन : 26 जनवरी को भारतीय संविधान लागू और भारत एक गणतंत्र राष्ट्र बना.

भारत-चीन युद्ध

वर्ष : 1962 ईसवी

वर्णन : सीमा निर्धारण को लेकर भारत और चीन के बीच युद्ध की शुरुआत. गोवा, दमन और दिऊ को पुर्तगाली शासन से आजादी मिली.

भारत-पाकिस्तान युद्ध

वर्ष : 1965 ईसवी

वर्णन : कश्मीर को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच जंग छिड़ी. रूस के हस्तक्षेप से भारतीय प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने ताशकंद में पाकिस्तान के साथ युद्धविराम पर समझौता किया.

इंदिरा गाँधी का उदय

वर्ष : 1966 ईसवी

वर्णन : ताशकंद में प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के मृत्यु के पश्चात भारत की प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी बनी और भारत में इंदिरा युग की शुरुआत हुई.

भारत-पाकिस्तान युद्ध

वर्ष : 1971 ईसवी

वर्णन : पूर्वी पाकिस्तान में पाकिस्तानी शासक द्वारा अत्याचार और वहां अस्थिरता को देखते हुए भारत ने हस्तक्षेप किया, और पाकिस्तान के साथ युद्ध की शुरुआत हुई. इस युद्ध में पाकिस्तान को करारी हार मिली, और भारत ने पूर्वी पाकिस्तान को पाकिस्तान से आज़ाद करा दिया, और एक नए राष्ट्र बांग्लादेश का उदय हुआ. पाकिस्तान की हार के बाद शिमला में भारत और पाकिस्तान के बीच समझौता हुआ. इस समझौते पर भारत की ओर से प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने और पाकिस्तान की ओर से वहां के प्रधानमंत्री ज़ुल्फ़िकार अली भुट्टो ने हस्ताक्षर किए.

परमाणु परीक्षण

वर्ष : 1974 ईसवी

वर्णन : भारत ने विज्ञान और रक्षा के क्षेत्र में इतिहास रचते हुए राजस्थान के पोखरण में सफल भूमिगत परमाणु परीक्षण किया.

आपातकाल की घोषणा

वर्ष : 1975 ईसवी

वर्णन : देश में बढ़ते भ्रष्टाचार और बढ़ती महंगाई से फैले अव्यवस्था को रोकने के लिए इंदिरा गाँधी सरकार ने आपातकाल लगाने की घोषणा की. आपातकाल के दौरान हजारों राजनीतिक विरोधियों को जेल में डाल दिया गया था. इस दौरान जबरन नसबंदी से आम जनता में भी आक्रोश की लहर फ़ैल गई थी.

इंदिरा गाँधी का सत्ता से बाहर होना और केंद्र तथा राज्यों में पहली गैर कांग्रेसी सरकारों का गठन

वर्ष : 1977 ईसवी

वर्णन : आपातकाल की समाप्ति के बाद हुए आम चुनाव में कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा, और इंदिरा गाँधी सत्ता से बाहर हो गयीं. केंद्र में मोरारजी देसाई के नेतृत्व में जनता पार्टी सरकार का गठन हुआ. पश्चिम बंगाल में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार बनी.

जनता पार्टी में विभाजन

वर्ष : 1979 ईसवी

वर्णन : केंद्र में सत्ताधारी जनता पार्टी में अंदरूनी कलह की वजह से विभाजन हुआ. मोरारजी देसाई को प्रधानमंत्री पद छोड़ना पड़ा. चौधरी चरण सिंह देश के प्रधानमंत्री बने.

कांग्रेस की सत्ता में वापसी

वर्ष : 1980 ईसवी

वर्णन : चौधरी चरण सिंह भी ज्यादा दिनों तक सरकार नहीं चला पाए, और देश में मध्यावधि चुनाव कराना पड़ा. इस चुनाव में कांग्रेस को जीत मिली और इंदिरा गाँधी एक बार फिर से भारत की प्रधानमंत्री बनीं.

ऑपरेशन ब्लू स्टार, इंदिरा गाँधी की हत्या और राजीव गाँधी की प्रधानमंत्री पद पर नियुक्ति

वर्ष : 1984 ईसवी

वर्णन : आतंकवाद से प्रभावित पंजाब के अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में छिपे जरनैल सिंह भिंडरावाले और अन्य आतंकवादियों को निकालने के लिए इंदिरा गाँधी ने ऑपरेशन ब्लू स्टार के तहत सैन्य कारवाई को अंजाम दिया. इसके कुछ समय पश्चात नई दिल्ली में इंदिरा गाँधी के अंगरक्षकों में शामिल तीन सिख अंगरक्षकों ने उनकी हत्या कर दी. इंदिरा गाँधी की हत्या के बाद देशभर में सिख विरोधी दंगे हुए, जिसमें हजारों सिख मारे गए. राजीव गाँधी देश के नए प्रधानमंत्री बने.

श्रीलंका में भारतीय सैन्य अभियान

वर्ष : 1987 ईसवी

वर्णन : लिट्टे के आतंकवाद से ग्रस्त पड़ोसी देश श्रीलंका में भारत और श्रीलंका के मध्य हुए एक समझौते के तहत भारत ने वहां शांति स्थापित करने के लिए अपनी सेना को भेजा.

सेबी का गठन

वर्ष : 1988 ईसवी

वर्णन : भारतीय शेयर बाज़ार के कारोबार पर निगरानी रखने के उद्देश्य से भारतीय संसद में 12 अप्रैल को सेबी एक्ट 1992 पास किया गया और भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) का गठन हुआ. यह संस्था 1992 से अपने अस्तित्व में आई थी.

आम चुनाव में कांग्रेस की हार और राष्ट्रीय मोर्चा सरकार का गठन

वर्ष : 1989 ईसवी

वर्णन : इस वर्ष हुए आम चुनाव में कांग्रेस को एक बार फिर से करारी हार का सामना करना पड़ा. केंद्र में कई दलों के गठजोड़ से वी पी सिंह के नेतृत्व में राष्ट्रीय मोर्चा की सरकार का गठन हुआ. इस सरकार को बाहर से भारतीय जनता पार्टी का समर्थन हासिल था.

राजीव गाँधी की हत्या, देश में मध्यावधि चुनाव, पी वी नरसिंह राव प्रधानमंत्री बने, आर्थिक सुधार का दौर शुरू

वर्ष : 1991 ईसवी

वर्णन : तमिलनाडु के श्रीपेरमबुदुर में एक चुनावी सभा के दौरान लिट्टे के आतंकवादी दस्ते ने राजीव गाँधी की हत्या कर दी. इस समय चन्द्रशेखर सरकार के अल्पमत में आ जाने के कारण देश में मध्यावधि चुनाव कराया जा रहा था. चुनाव के बाद कांग्रेस के पी वी नरसिंह राव देश के प्रधानमंत्री बने. मनमोहन सिंह को वित्त मंत्री बनाया गया. उन्होंने देश में आर्थिक सुधार का एक नया दौर शुरू किया.

बाबरी मस्जिद विध्वंस

वर्ष : 1992 ईसवी

वर्णन : 6 दिसम्बर को अयोध्या में उग्र भीड़ ने राम मंदिर-बाबरी मस्जिद परिसर में स्थित मस्जिद के गुम्बद को ढहा दिया था. इस घटना के बाद देश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक दंगे हुए थे.

मोबाइल फ़ोन सेवा की शुरुआत

वर्ष : 1995 ईसवी

वर्णन : देश में मोबाइल फ़ोन सेवा की शुरुआत हुई, और पश्चिम बंगाल के तत्कालीन मुख्यमंत्री ज्योति बासु ने कलकाता से फ़ोन कर इस सेवा का शुभारम्भ किया.

अटल बिहारी वाजपई प्रधानमंत्री बने, परमाणु परीक्षण

वर्ष : 1998 ईसवी

वर्णन : आम चुनाव के बाद भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी, और केंद्र में अटल बिहारी वाजपई के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) सरकार का गठन हुआ. इसी वर्ष भारत ने अपना दूसरा परमाणु परीक्षण किया. इस परीक्षण के बाद देश को अन्तराष्ट्रीय बिरादरी का आर्थिक प्रतिबंध भी झेलना पड़ा.

अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन का भारत आगमन, तीन नए राज्यों का गठन

वर्ष : 2000 ईसवी

वर्णन : इस वर्ष अमेरिका के राष्ट्रपति बिल क्लिंटन भारत की यात्रा पर आए. 15 नवम्बर को तीन नए राज्यों झारखण्ड, उत्तराखण्ड और छत्तीसगढ़ का गठन किया गया.

अंतरिक्ष के क्षेत्र में लंबी छलांग. भारतीय संसद पर आतंकी हमला

वर्ष : 2001 ईसवी

वर्णन : भारत ने अपने अंतरिक्ष कार्यक्रम में बड़ी सफलता हासिल करते हुए PSLV (Polar Satellite Launch Vehicle) राकेट का सफल परीक्षण किया. इस राकेट के माध्यम से भारत उपग्रहों को अंतरिक्ष में स्थापित करने की क्षमता वाला पांचवां देश बन गया. इसी वर्ष संसद पर आतंकी हमला हुआ, जिसमें संसद की सुरक्षा में तैनात पांच जवान शहीद हो गए थे.

‘अग्नि’ मिसाइल का विकास. ए पी जे अब्दुल कलाम राष्ट्रपति निर्वाचित. गुजरात में सांप्रदायिक दंगा

वर्ष : 2002 ईसवी

वर्णन : भारत ने रक्षा के क्षेत्र में बड़ी सफलता हासिल करते हुए लंबी दूरी तक मार करने वाले बैलेस्टिक मिसाइल ‘अग्नि’ का सफल परीक्षण किया. देश के महान वैज्ञानिक ए पी जे अब्दुल कलाम देश के राष्ट्रपति निर्वाचित हुए. इसी वर्ष गुजरात के गोधरा में ट्रेन में आगजनी में कई कारसेवकों के मारे जाने के बाद गुजरात में भीषण सांप्रदायिक दंगे हुए जिसमें हजारों लोग मारे गए.

भारत की पहली महिला राष्ट्रपति

वर्ष : 2007 ईसवी

वर्णन : श्रीमती प्रतिभा पाटिल देश की पहली महिला राष्ट्रपति निर्वाचित हुईं.

मुंबई में आतंकी हमला. चंद्रयान-1 का प्रक्षेपण

वर्ष : 2008 ईसवी

वर्णन : मुंबई के ताज होटल, विक्टोरिया टर्मिनल रेलवे स्टेशन सहित पांच जगहों पर पाकिस्तान से आए आतंकियों ने हमला कर कई निर्दोषों के मार दिया. सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में हमले में शामिल एक आतंकी को छोड़कर सभी आतंकी मारे गए. इस हमले में जान-माल की भारी क्षति हुई. इसी वर्ष भारत ने अंतरिक्ष में एक लंबी छलांग लगाते हुए ‘चन्द्रयान-1’ को चंद्रमा की कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित किया.

नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री निर्वाचित. मंगलयान का प्रक्षेपण

वर्ष : 2014 ईसवी

वर्णन : स्वतंत्रता के बाद देश में पहली पूर्ण बहुमत वाली गैर कांग्रेसी सरकार का गठन. भारतीय जनता पार्टी के नेता और गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री नरेन्द्र भाई मोदी देश के प्रधानमंत्री बने. भारत ने मंगल ग्रह का अध्ययन करने के लिए अपने महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष मिशन के तहत ‘मंगलयान’ का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया.

पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमला. भारत का पाकिस्तानी सीमा में सर्जिकल स्ट्राइक. भारत एमटीसीआर (Missile Technology Control Regime) का सदस्य बना. 1000 और 500 वर्ग मूल्य के नोटों का विमुद्रीकरण किया गया.

वर्ष : 2016 ईसवी

वर्णन : 2 जनवरी को पाकिस्तानी सीमा से भारत में घुसे आतंकियों ने पंजाब के पठानकोट स्थित एयरबेस पर हमला किया. इस हमले में कई जवान शहीद हुए. भारत ने जवाबी करवाई करते हुए 29 सितम्बर की रात में पाकिस्तानी सीमा क्षेत्र में कमांडो भेजकर आतंकी कैम्पों को भारी नुकसान पहुंचाते हुए एक गुप्त सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया. इसी वर्ष 8 नवम्बर की रात्रि में सरकार ने एक ऐतिहासिक और साहसी कदम उठाते हुए 1000 और 500 के बड़े नोटों को चलन से बाहर कर दिया. आम भाषा में सरकार के इस कदम को नोटबंदी कहा गया. इसी वर्ष भारत मिसाइल तकनीक के प्रसार को रोकने के लिए वैश्विक स्तर पर बनाए गए संगठन MTCR का सदस्य बना.

important dates and events of modern Indian history in Hindi, important dates and events in Indian history in Hindi, important dates and events of Indian freedom struggle in Hindi, significant events in modern history in Hindi, important events in history timeline in Hindi

Jai Hind! #KeepSupporting & sharing

You may be intrested in