A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 121 Countries as of NOW.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

नोटबंदी : आज के बाद पुराने नोट जमा कराने के लिए जाना होगा रिजर्व बैंक, जानिए अब 30 दिसंबर के बाद क्या होगा!


last date for depositing old notes

नोटबंदी के बाद बैंकों में 1000 और 500 के पुराने नोट जमा करने का 30 दिसंबर यानी आज आखिरी मौका है। 31 दिसंबर से 31 मार्च 2017 तक पुराने नोट सिर्फ रिजर्व बैंक के काउंटरों पर जमा होंगे। हालांकि जमा कराने के कारण बताने होंगे और इसके लिए हलफलनामा भी देना पड़ेगा। यदि रिजर्व बैंक आपके तर्कों या वजहों से पूरी तरह संतुष्ट हो गई तो ही आप जमा करा पाएंगे। साथ ही रिजर्व बैंक को दिए गए हलफनामे में गलत जानकारी देने पर 50 हजार रुपये या फिर जमा कराए गए नोट के पांच गुना के बराबर, जो भी ज्यादा हो, जुर्माना देना होगा। सरकार ने पुराने नोटों को लेकर जिस अध्यादेश को मंजूरी दी है उसके मुताबिक 31 मार्च के बाद पुराने नोट मिलने पर 10 हजार रुपये तक का जुर्माना लगेगा। नोटबंदी के फैसले के बाद सरकार ने इस बारे में एक अध्यादेश तैयार किया है और उसी में ये सारे प्रावधान हैं।

नोटबंदी पर लाए गए अध्यादेश में यह स्पष्ट कर दिया गया है कि 30 दिसंबर की आधी रात के बाद ऐसे नागरिक जो 9 नवंबर 2016 से 30 दिसंबर 2016 की अवधि में किन्हीं खास वजहों से देश से बाहर रहे हों, उन्हें ही पुराने नोट रिजर्व बैंक में जमा कराने की अनुमति होगी। ऐसे लोगों और उनके बाहर रहने की वजहों की जानकारी केंद्र सरकार अधिसूचना के लिए अलग से बताएगी। रिजर्व बैंक में जमा कराना तभी संभव होगा जब रिजर्व बैंक इस बात को लेकर आश्वस्त हो कि नोट जमा कराने वाले व्यक्ति की देश से बाहर होने की वजह जायज है। अध्यादेश 31 दिसंबर से प्रभावी होगा।

हालांकि, अभी अध्यादेश को राष्ट्रपति की मंजूरी नहीं मिली है। अध्यादेश में 30 दिसंबर के बाद पुराने नोट रखने पर जेल भेजे जाने का प्रावधान नहीं रखा गया है। अलबत्ता यह तय कर दिया गया है कि कौन व्यक्ति कितनी संख्या में पुराने नोट रख पाएगा। लोगों को पांच सौ या एक हजार रुपये के दस नोट ही अपने पास रखने की इजाजत होगी।

हो सकता है 50,000 रुपए तक का जुर्माना

चलन से बाहर किए गए 500 और 1000 रुपए के नोट जमा करने की मियाद खत्म होने से पहले ही सरकार ने इन्हें रखने वालों पर एक नए अध्यादेश का चाबुक चला दिया है। कैबिनेट से मंजूर इस अध्यादेश में 10 से अधिक संख्या में पुराने नोट रखने वालों को जेल या पच्चास हजार रुपए तक का जुर्माना हो सकता है। इसके साथ ही आरबीआई में नोट बदलने के लिए फॉर्म पांच भरना होगा। इसके साथ एक पहचान पत्र और नोटों की जानकारी भी देनी होगी। पैसे बदलवाने के साथ ही आपको कुछ सवाल भी पूछे जाएंगे। जानिए क्या हैं वो सवाल?
लेकिन इसके लिए एक हलफनामा देकर बताना होगा कि अब तक इसे क्यों नहीं बदला गया.

30 दिसंबर के बाद क्या?

क्या बैंक खातों और एटीएम से नकदी निकासी की सीमा बढ़ेगी?

क्या बेनामी संपत्ति को लेकर सरकार बड़ी कार्रवाई करेगी?

क्या घरों में भी कैश रखने की अधिकतम सीमा तय होगी?

बैंकों में जो नकदी आयी, उससे लोन सस्ता होगा?

डिजिटल लेन-देन करनेवालों को साइबर सुरक्षा मिलेगी?

जब्त कालेधन से गरीबों के कल्याण के लिए कौन-सी योजना शुरू होगी?

आपके पास करने को क्या-क्या बचता है?

कालाधन रखने वालों के नाम ईमेल करिए : सरकार की नई स्कीम के तहत आप किसी ऐसे व्यक्ति का नाम सरकार को बता सकते हैं, जिसके पास सीमा से अधिक सम्पत्ति है. ऐसा करने के लिए बस इस ईमेल एड्रेस blackmoneyinfo@incometax.gov.in पर उस व्यक्ति का नाम, पता और अघोषित सम्पत्ति की जानकारी भेजनी है.

टोल फ्री हेल्पलाइन से सीखिए कैशलेस लेन-देन : कैशलेस लेन-देन सीखने के लिए सरकार जल्द ही एक हेल्पलाइन नंबर '14444' देश भर में जारी करने वाली है. इस नंबर पर कॉल करके लेन देन में आने वाले किसी भी परेशानी को खत्म किया जा सकता है.

इसके अलावा केंद्र सरकार लोगों को कैशलेस लेन देन की जानकारी देने के लिए एक टीवी चैनल 'डिजिशाला' और वेबसाइट www.cashlessindia.gov.in पहले ही लॉन्‍च कर चुकी है.

You may be intrested in

A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):