A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 121 Countries as of NOW.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

राष्ट्रीय वयोश्री योजना क्या है, यहाँ जाने उद्देश्य चयनित क्षेत्र व लाभ | What is Rashtriya Vayoshri Yojana, Objective Covered Area & Benefits


rashtriya-vayoshri-yojna-in-hindi

भारत सरकार राष्ट्रीय वयोश्री योजना के तहत गरीबी रेखा के नीचे आने वाले वृद्धों को लाभ पहुंचा रही है. इस योजना के तहत सरकार उन तमाम वृद्धों को, जो शारीरिक रूप से किसी तरह से भी अक्षम है, उन्हें सरकार की तरफ से मुफ्त व्हीलचेयर तथा अन्य सहायक उपकरण दिए जा रहे हैं. इस योजना के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी नीचे दी जा रही है. …

वरिष्ठ नागरिकों के लिए राष्ट्रीय वयोश्री योजना | Rashtriya Vayoshri Yojana in Hindi

राष्ट्रीय वयोश्री योजना को लागू करने के लिए केंद्र द्वारा दक्षिण चेन्नई और कन्याकुमारी का चयन किया गया है। गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए भौतिक सहायता और सहायक-जीवित उपकरण उपलब्ध कराने की योजना है। यह योजना अप्रैल में आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले में शुरू की गयी।

राष्ट्रीय वयोश्री योजना की शुरुआत (Rashtriya Vayoshri Yojana launched)

यह योजना भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही है. इसकी घोषणा देश के वित्तमंत्री अरुण जेटली जी द्वारा 2015 – 16 के आम बजट के दौरान की गई थी. आम बजट 2017 – 18 के आने के बाद एक – एक करके कई योजनाओं की शुरुआत की गई, उन्हीं में से एक योजना “राष्ट्रीय वयोश्री योजना” की शुरुआत आन्ध्र प्रदेश के नेल्लोर में 1 अप्रैल 2017 को की गयी. इस उदघाटन समारोह में मुख्यअतिथि के रूप में ‘सोशल जस्टिस एंड एम्पोवेर्मेंट’ मंत्रालय के मंत्री श्री थावरचंद गहलोत मौजूद थे, जिन्होंने इस योजना का उद्घाटन किया.

इस योजना के लिए आंध्रप्रदेश के बाद लगातार हर राज्य के चयनित क्षेत्रों में इस तरह के कैंप आयोजित हो रहे हैं. अब तक यह योजना आध्रप्रदेश के अतिरिक्त मध्यप्रदेश के उज्जैन में और महाराष्ट्र में लागू हो गयी है. महाराष्ट्र में यह योजना 4 जून 2017 को शुरू की गई, जिसमे इस योजना के उदघाटन के लिए भी मंत्री श्री थावरचंद गहलोत उपस्थित थे.

राष्ट्रीय वयोश्री योजना का उद्देश्य (Rashtriya Vayoshri Yojana objectives)

सरकार ये योजना उन सभी ग़रीब वरिष्ठ नागरिकों को ध्यान में रख कर लागू कर रही है, जो उम्र के साथ आती अक्षमताओं की वजह से परेशान रहते हैं, और पैसे की कमी की वजह से अपनी आवश्यकता वाली चीज़ें भी नहीं ख़रीद पाते. उन्हें अपने दिनचर्या के कामों को करने में भी कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है. उन्हें हर अपने कामों के लिए घर के अन्य सदस्यों अथवा अन्य लोगों पर निर्भर रहना पड़ता है. ये सभी यन्त्र इन वृद्धों को स्वावलंबी बनायेंगे और इससे इनमें ज़िन्दगी जीने का एक नया जज़्बा और आत्मविश्वास पैदा होगा. इस तरह सरकार देश के वरिष्ठ नागरिकों को हर तरह से सक्षम बनाने की कोशिश कर रही है. यही इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य है.

राष्ट्रीय वयोश्री योजना का लाभ उठाने के लिए योग्यता (Rashtriya Vayoshri Yojana eligibility)

  • यह योजना, जैसा कि गरीबी रेखा से नीचे वाले लोगों के लिए है, अतः इसके लिए पंजीकरण कराते समय बीपीएल कार्ड की आवश्यकता पड़ेगी.
  • इस योजना का लाभ वही लोग उठा सकेंगे, जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है. अतः लाभार्थी की उम्र किसी मान्य दस्तावेज़ के तहत 60 वर्ष की होनी चाहिए.

राष्ट्रीय वयोश्री योजना से लाभ (Rashtriya Vayoshri Yojana benefits in hindi)

  • इस योजना के तहत मिलने वाले सारे सामान मुफ्त दिए जायेंगे.
  • इस योजना के तहत पाए जाने वाले यंत्रों में :
  1. वाकिंग स्टिक
  2. एल्बो क्रचेस
  3. ट्राईपॉड्स
  4. क्वैडपोड
  5. श्रवण यन्त्र
  6. व्हीलचेयर
  7. कृत्रिम डेंचर्स
  8. स्पेक्टल्स
  • ये कृत्रिम उपकरणों की संख्या किसी परिवार में मौजूद वरिष्ठ नागरिकों की संख्या पर आश्रित होगी. यदि किसी परिवार में एक से अधिक लोग लाभार्थी हुए, तो यंत्रों की संख्या कम की जा सकती है, ताकि अधिक से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा सकें.
  • सरकार इस योजना के तहत कैंप लगवायेगी, जिसमे कई बड़े डॉक्टर्स भी मौजूद रहेंगे. ये डॉक्टर्स उन सभी लोगों का चेक अप करेंगे जो ये लाभ उठाना चाहते हैं. इन्ही डॉक्टर्स के चेक अप के बाद उन्हें डॉक्टर द्वारा निर्देशित मशीनें दी जायेंगी.

राष्ट्रीय वयोश्री योजना का पर्यवेक्षण (Rashtriya Vayoshri Yojana supervision)

सन 2011 के सर्वेक्षण के अनुसार भारत में कुल 10.38 करोड़ वरिष्ठ नागरिक मौजूद हैं. इनमें लगभग 5.2 प्रतिशत वरिष्ठ नागरिकों को आयु के साथ होने वाली शारीरिक समस्याएं हैं. इस योजना के तहत इन सभी ज़रूरतमंदों को ध्यान में रखते हुए, इन आंकड़ों को पूरा करने की कोशिश की जायेगी. इस योजना के तहत देश के 5.20 लाख वरिष्ठ नागरिकों को लाभ पहुँचाया जाएगा. सरकार के ‘सोशल जस्टिस तथा एम्पोवेर्मेंट’ मंत्रालय को इस योजना का कार्यभार दिया गया है. अतः इस योजना के तहत समस्त कार्यों का देख रेख ये मंत्रालय ही करेगा.

राष्ट्रीय वयोश्री योजना की मुख्य बातें (Rashtriya Vayoshri Yojana facts)

  • भारत सरकार द्वारा पहली बार ऐसी कोई योजना चलाई जा रही है, जिसका फायदा वरिष्ठ नागरिक को मिल सकेगा.
  • इस योजना के लिए सरकार ने 477 करोड़ रूपए का बजट तैयार किया है.
  • ये योजना साल 2019 – 20 तक चलती रहेगी.
  • यदि वरिष्ठ नागरिक को एक से अधिक परेशानी अथवा रोग हो, तो प्रत्येक अक्षमता के लिए अलग अलग यन्त्र दिए जायेंगे.
  • ALMICO इन सभी आवंटित यंत्रों का एक वर्ष तक मुफ़्त मेंटेनेंस का कार्यभार लेगा.
  • किसी भी ज़िले में, जहाँ के लोगों को यह सुविधा दी जाएगी वहाँ लाभार्थियों में 30 प्रतिशत स्त्रियाँ भी रहेंगीं.
  • ये सभी आवंटन सरकार अपनी तरफ से कैंप लगा कर करेगी.

उल्लेखनीय है कि यह केंद्र सरकार द्वारा पूरी तरह से वित्त पोषित एक केंद्रीय योजना है। योजना के कार्यान्वयन के लिए खर्च “वरिष्ठ नागरिक कल्याणकारी फंड” से मिलेगा। इस योजना के अंतर्गत, उपयुक्त वृद्ध हितग्राहियों के वरिष्ठ नागरिकों को सहायता प्रदान करने वाले सहायक उपकरण, जैसे चलने वाली लाठी, कोहनी बैसाखी, वॉकर / बैसाखीदार, ट्राइपोड / क्वाडपोड्स, श्रवण यंत्र, व्हीलचेयर, कृत्रिम डेन्टर्स और चश्में प्रदान किए जाएंगे।

ये उपकरण मिलेंगे

बुजुर्गो को वितरित किए जाने उपकरण आईएसआई मानदंडों के अनुरूप होंगे. योजना के तहत आरामदायक जूते, बैसाखी, कृत्रिम दांत, व्हीलचेयर, श्रवण यंत्र, चश्मा, ट्रायपॉड, लोकोमोटर असमर्थता से निपटने वाले यंत्र समेत अन्य उपकरण मुफ्त दिए जाएंगे. माना जा रहा है कि राष्ट्रीय वयोश्री योजना जनवरी में लांच होनी थी, पर पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों को देखते हुए इसे टाल दिया गया था. 2011 के जनगणना के मुताबिक देश में 10.38 करोड़ वरिष्ठ नागरिक हैं. इनमें 5.2 फीसद बुजुर्ग उम्र संबंधी निशक्तता से ग्रसित हैं.

निष्कर्ष

यह देश में ऐसी पहली महत्वाकांक्षी योजना है, जो कि वरिष्ठ नागरिकों को सामान्य जीवन-यापन में मदद करेगी। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार, भारत में वरिष्ठ नागरिकों की आबादी 10.38 करोड़ है, जिसमें से 70 फीसदी से अधिक आबादी ग्रामीण क्षेत्रों में रहती है। इनकी जनसंख्या का बड़ा हिस्सा वृद्धावस्था में होने वाली अक्षमताओं से पीड़ित है। एक अनुमान के मुताबिक, वर्ष 2026 तक उम्रदराज लोगों की आबादी बढ़कर लगभग 173 मिलियन होने की संभावना है। ऐसी स्थिति में यह योजना इनके लिए अत्यधिक मददगार सिद्ध होगी।

गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों का जीवन सक्षम बनाने के लिए ये योजना बहुत ही लाभकारी सिद्ध हो रही है. इस योजना से प्राप्त लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाया जा रहा है. भारत सरकार का यह क़दम कई ज़रुरतमंदों के लिये उपयोगी साबित हो रहा है. योजना के तहत लगभग देश के सभी हिस्से को लाने की कोशिश की गयी है. सरकार की यह नीति देश के लोगों के लिए बहुत कारगर साबित होगी।

तो दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस Facebook पर Share अवश्य करें! अब आप हमें Facebook पर Follow कर सकते है !  क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

Good luck

You may be intrested in

A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):