A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 121 Countries as of NOW.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

4 जी वोल्टी क्या है ?, इसकी पहचान और लाभ | What is 4g Volte, its Identification and Benefits in Hindi


क्या है भारत चीन डोकाला सीमा विवाद, जानिए…

what is 4g volte in hindi

Volte यानि की voice over LTE जिसका मतलब है की 4G LTE नेटवर्क पर HD calling. इसका लाभ यह होगा की इसमें call quality उच्च होगी और आवाज साफ़ साफ़ सुनी जा सकेगी. अगर आप अपने स्मार्टफोन में HD VOICE और VIDEO CALL का लाभ उठाना चाहते है तो आपके स्मार्टफोन में VoLTE का होना जरूरी है। …

वर्तमान में स्मार्टफोन तकनीक के इस्तेमाल से हम ऑनलाइन वीडियो और वीडियो कॉल, सोशल मीडिया या ऑनलाइन गेमिंग, खरीद सब कुछ मोबाइल नेटवर्क के माध्यम से आसानी से कर सकते है. मोबाइल दूरसंचार तकनीक की जेनरेशन को ‘जी’ नाम दिया गया है, सबसे पहले इसको 0 जी से संबोधित किया गया, फिर उसके बाद तकनीक विकसित होती गयी और उसको 1 जी, 2 जी, 3 जी और 4 जी नाम से संबोधित किया जाने लगा।

क्या है 4G VoLTE | 4G Volte Kya Hai in Hindi

4 जी वोल्टी क्या है (What is 4G Volte)

वोल्टी का पूरा नाम ‘वोइस ओवर लॉन्ग-टर्म इवोल्यूशन’ है. इंटरनेट प्रोटोकॉल पर आधारित नेटवर्क को ही वोल्टी कहते है. जो भी मोबाइल वोल्टी रहेगा उससे बिना इंटरनेट के भी कॉल किया जा सकता है. आमतौर पर इस्तेमाल किये जाने वाले 2 जी और 3 जी की अपेक्षा 4 जी नेटवर्क पर आवाज बेहतर आती है. तथा लोग 4 जी के बारे में ऐसा सोचते है कि इससे डाउनलोड करने, स्ट्रीमिंग और वेब ब्राउजिंग सबसे बेहतर होती है, लेकिन इन सबके साथ ही इसका उपयोग कॉल सुधार में भी किया जाता है।

4 जी वोल्टी की पहचान (4G Volte Identification)

मूल रूप से 2 जी और 3 जी नेटवर्क, हाइब्रिड ऑफ़ सर्किट स्विचिंग और पैकेट स्विचिंग डेटा नेटवर्क टेक्नोलॉजी है, लेकिन 4 जी वोल्टी केवल पैकेट स्विचिंग है। 4 जी नेटवर्क का इस्तेमाल तभी सही तरीके से हो सकता है, जब आपके पास मोबाइल वोल्टी हो। मोबाइल की स्क्रीन पर वोल्टी का चिन्ह दिखेगा, जिससे आप पता कर सकेंगे कि आपके पास वोल्टी मोबाइल है।

4 जी वोल्टी के लाभ (4G Volte Benefits)

4 जी वोल्टी के लाभ निम्न हैं..

  • बेहतरीन कॉल की गुणवता : सबसे बड़ी उपलब्धि की बात यदि हम सोचें VoLTE की तो वह होगी इसकी बेहतरीन call quality. देखा जाये तो 2G और 3G के मुकाबले 4G में ज्यादा data ट्रान्सफर हो सकता है, जिसका फ़ायदा यह होगा कि जब भी हम किसी को कॉल करेंगे तो दुसरे छोर पर मौजूद व्यक्ति को आवाज ज्यादा अच्छी सुनाई देगी. एक प्रयोग से यह पता चला है की VoLTE में voice की quality तीन गुना 3G के मुकाबले और छे गुना 2G के मुकाबले यह बेहतर है, जिससे की tone की quality में खासा फर्क दिख सकता है.
  • बेहतर कवरेज और कनेक्टिविटी : VoLTE में calls ज्यादा जल्दी और बेहतर कनेक्ट होता ही 2G और 3G के मुकाबले. जहाँ पर 4G coverage नहीं भी है वहां भी ये 2G और 3G का कवरेज इस्तमाल कर अपना नेटवर्क चालू रख सकता है. और तो और इसकी frequency बड़े buildings के दीवारों को भी भेद सकती है जहाँ की 2G और 3G के सिग्नल नहीं पहुँच सकते.
  • बेहतर बैटरी लाइफ : जिस किसी ने भी यदि 4G का इस्तेमाल किया है उसे यह जरूर मालूम चला होगा की VoLTE के इस्तेमाल से उनके फ़ोन का बैटरी लाइफ जरूर बढ़ा होगा. ऐसा इसलिए क्योंकि जब भी आप एक call करते या receive करते है तब आपके फ़ोन को दुसरे नेटवर्क में स्विच करना पड़ता होगा जैसे की 4G to 2G or 3G, जैसे की 4G कॉल्स में लगातार switching नहीं होती दुसरे नेटवर्क में, यहाँ कॉल ख़तम होने के बाद ये अपने सामान्य नेटवर्क में आ जाता है. लगातार switching और बार बार दुसरे नेटवर्क की तलाश न होने के कारन यहाँ user को ज्यादा बैटरी लाइफ मिल जाती है.
  • वीडियो कालिंग : वीडियो कॉल सेवा में स्काइप पर कॉल करने के लिए अच्छी गुणवता वाली आवाज की जरूरत महसूस होती है, लेकिन 4 जी वोल्टी सेवा का इस्तेमाल कर आप बेहतरीन इंटरफेस कॉल करने में सक्षम होंगे. इसके लिए आपको किसी अन्य सॉफ्टवेयर पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा, आप सीधे रूप में 4 जी वोल्टी से वीडियो कॉल कर सकते है. 4 जी वोल्टी में वीडियो कॉल डायलर होने के साथ ही अन्य रिच कम्युनिकेशन सर्विसेज के साथ फ़ाइल ट्रांसफर करने, भाषा अनुवाद, वीडियो वोइसमेल भी सब उपलब्ध होते है. चूकी 4 जी वोल्टी पूरी तरह से डेटा से जुड़ा हुआ है और फ्री डेटा होने की वजह से आपको यह चिंता करने की जरुरत नहीं है कि आपने कितने समय तक डेटा का इस्तेमाल किया है.

4 जी वोल्टी के नुकसान (4G Volte Limitation)

4 जी वोल्टी के नुकसान निम्न हैं..

  • जब भी हम किसी को वोइस कॉल या वीडियो कॉल करते है तब यह हमे सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि दुसरे छोर पर मौजूद व्यक्ति के पास भी 4 जी वोल्टी उपलब्ध हो. अन्यथा आवाज कट कट कर आयेंगी, हो सकता है कॉल बातों के बीच में ही कट जाये.
  • 4 जी वोल्टी फ़ोन चुकी नया है इस वजह से इसका मूल्य भी ज्यादा हो सकता है, जो हर कोई नहीं खरीद सकता, लेकिन भविष्य में यह समस्या कम होने की सम्भावना है. क्योकि 4 जी नेटवर्क तेजी से फ़ैल रहा है, जिससे फ़ोन के साथ नेटवर्क भी सस्ते और आसानी से प्राप्त हो जायेंगे. वर्तमान में रिलायंस जियो 4 जी वोल्टी फोन महज 500 रूपये में उपलब्ध कराने वाली है. बहुत सस्ते वोल्टी फ़ोन के साथ नेटवर्क भी उपलब्ध कराने वाली है.

Network विकास का इतिहास

रिलायंस जियो ने कम दाम पर 4G डेटा और फ्री वॉइस कॉलिंग वाली सर्विस लॉन्च करके धमाल मचा दिया है। कंपनी VoLTE इस्तेमाल कर रही है, जिस वजह से वह इतने सस्ते टैरिफ लॉन्च कर पाई है। लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। जैसे कि VoLTE क्या है, HD कॉलिंग क्या है और जियो के डेटा प्लान इतने सस्ते क्यों हैं।

सबसे पहले हमें समझना होगा कि यह 2G, 3G और 4G क्या है। दअरसल मोबाइल टेलिकम्यूनिकेशंस टेक्नॉलजी की जेनरेशंस को G के हिसाब से नाम दिए गए हैं।

0G - सबसे पहले मोबाइल रेडियो टेलिफोन सिस्टम इस्तेमाल होते थे। इस तकनीक को 0G का नाम दिया गया है।

1G - पहली वायरलेस टेलिफोन टेक्नॉलजी को 1G का नाम दिया गया। 70 के दशक के आखिर से लेकर 1991 तक यही टेक्नॉलजी इस्तेमाल हुई। यह टेक्नॉलजी ऐनलॉग नेटवर्क को इस्तेमाल करती थी।

2G - 1991 में GSM लॉन्च हुआ, जिसे सेकंड जेनरेशन का नाम दिया गया। 2G में ऐनलॉग के बजाय डिजिटल नेटवर्क का इस्तेमाल होने लगा। 2G से मोबाइल पर डेटा सर्विसेज, SMS और MMS भेजे जाने लगे।

3G - इसमें W-CDMA, TD-SCDMA, HSPA+ और CDMA2000 स्टैंडर्ड्स शामिल थे। पहला 3G नेटवर्क 1998 में पेश किया गया था।

4G - 2008 में 4G पेश हुआ। 4G में मोबाइल वेब ऐक्सेस, आईपी टेलिफनी, गेमिंग सर्विसेज, एचडी मोबाइल टीवी, विडियो कॉन्फ्रेंसिंग और 3D टीवी सपॉर्ट होना चाहिए। इसके लिए दो स्टैंडर्ड इस्तेमाल होते हैं- मोबाइल WiMAX और LTE.

  • LTE : LTE (Long-Term Evolution) मोबाइल फोन और डेटा टर्मिनल्स के लिए हाई स्पीड वायरलेस कम्यूनिकेशन का एक स्टैंडर्ड है। LTE को भले ही 4G LTE के तौर पर प्रचारित किया जाता है, मगर यह भी माना जाता है कि यह 4G के पैमानों पर खरा नहीं उतरता। मगर फिर भी LTE को दुनिया भर में 4G के तौर पर पहचाना जाता है। मूव करते LTE से वक्त अधिकतम 100 से 150 मेगाबिट्स प्रति सेकंड की अधिकतम डेटा स्पीड मिल सकती है और स्थिर होने पर 1जीबी प्रति सेकंड की।
  • VoLTE : इंटरनेट प्रोटोकॉल या IP पर आधारित LTE नेटवर्क को ही VoLTE (Voice Over Long Term Evolution) का नाम दिया गया है। दरअसल LTE के जरिए वॉइस कॉलिंग भी की जा सकती है। इसके लिए कैरियर्स को अपने वॉइस कॉल नेटवर्क में बदलाव लाना पड़ता है।

क्या आपके Smartphone में 4g VoLTE है

सबसे पहले अपना फ़ोन Switch On करें, फिर internet को चालू करें इसके बाद यदि VoLTE का चिन्ह आता है सिग्नल strength के पास तो इसका मतलब है की आपका मोबाइल VoLTE enabled है. नहीं तो ये दुसरे alphabets जैसे G, E or 2G, 3G, 4G प्रदर्शित करेंगे।

LTE और VoLTE में अंतर (Diffrence Between LTE & VoLTE)

LTEVoLTE
Full Form है Long Term EvolutionFull Form है Voice over LTE
इन्हें मुख्यत इन्टरनेट के लिए ही design किया गया है.इन्हें मुख्यत Voice और इन्टरनेट के लिए ही design किया गया है.
ये voice transmission को support नहीं करता.ये voice transmission और Data transmisssion दोनों को support करता है .
Voice Call तभी हो सकती है जब internet connection चालू रहे नहीं तो call drop हो सकती है.Internet connection के न होने से भी Voice Call किया जा सकता है.

ज्यादातर कंपनियां अभी वॉइस कॉलिंग के लिए 'सर्किट स्विच्ड' 2G या 3G नेटवर्क इस्तेमाल कर रही हैं। मगर VoLTE में वॉइस कॉल्स को 4G LTE के जरिए किया जाता है। आसान भाषा में इसे यूं समझा जा सकता है कि आप डेटा की मदद से जिस तरह विभिन्न ऐप्स इस्तेमाल करते हैं, उसी तरह से वॉइस कॉलिंग भी डेटा की मदद से होती है। इसमें आवाज को एक ऐप की ही तरह डेटा के जरिए भेजा और रिसीव किया जाता है। जय हिंद।

कृपया इस पोस्ट को देशहित में शेयर जरूर करें !!

तो दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस Facebook पर Share अवश्य करें! अब आप हमें Facebook पर Follow कर सकते है !  क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

“ मेरा देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है ”

Loading...
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):