A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 121 Countries as of NOW.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

कोरा क्या है, जानें इसका उपयोग कैसे करें | What is Quora & How to Use It


उत्तर प्रदेश किसान फसल ऋण मोचन योजना 2017, यहाँ पढ़ें…

what is quora use hindi

कोरा (Quora) एक मेगा वेबसाइट है, यह निरंतर बढ़ते हुए उपयोगकर्ता के प्रश्नों और उत्तरों का संग्रह तैयार करता है. इसमें सभी प्रश्न और उत्तर उन लोगों के द्वारा बनाये गए, सम्पादित और संगठित किये गए है, जो इसका उपयोग करते है। …

अगर आपने भीम एप्‍लीकेशन इस्‍तेमाल किया है तो आपको गूगल तेज पेमेंट ऐप (Google Tez Payment App) जरूर पसंद आयेगा, ये एप्‍लीकेशन भी UPI पर काम करता हैै तो आईये जानते हैं गूगल तेज पेमेंट एप्‍प क्‍या है।

क्‍या है कोरा कैसे करें इसका उपयोग | What is Quora | How to use Quora | Why Should You Join Quora ?

बहुत लोग इसे सामान्य रूचि, शोध और सूचना के लिए एक स्रोत के रूप में कोरा का उपयोग करते है, कुछ लोग सामाजिक नेटवर्क के निर्माण के लिए भी इसका उपयोग करते है. इस तरह कोरा प्रश्न और उत्तर देने वाली एक साइट है जहाँ प्रश्न पूछे जाने पर अन्य उपयोगकर्ता के द्वारा ही उत्तर दिए जाते है और उपयोगकर्ता के द्वारा ही प्रश्न भी पूछे जाते है. साथ ही वो अपने सुझावों से सहयोग करते है. इसका मुख्य उदेश्य लोगों को किसी भी विषय पर जानकारियां देकर सहयोग करना है. कोरा कंपनी की स्थापना जून 2009 में हुई और 7 साल पहले ये वेबसाइट 21 जून, 2010 को जनता के लिए उपलब्ध कराई गई थी।

कोरा का इतिहास (Quora History Hindi)

कोरा को फेसबुक के दो पूर्व कर्मचारी एडम डी’एंगेलो और चार्ली चीवर के द्वारा सह- स्थापित किया गया था. उन दोनों ने मिलकर इस साइट को ऐसे लोगों के लिए बनाया है जो किसी भी विषय की गहनता का पता लगाने की इच्छा रखते है, जो किसी भी तरह के प्रश्न का उचित उत्तर नहीं पा सकते है वो इस साइट के माध्यम से अपने प्रश्न को रखते है जहां पर उन्हें उचित उत्तर मिलने की संभावना रहती है।

दिन प्रतिदिन कोरा पर आने वालों की संख्या बढती जा रही है, हाल ही में अप्रैल 2017 में कोरा ने 190 मिलियन आगंतुकों का दावा किया था, जोकि इसके एक साल पहले 100 मिलियन के करीब थी. 2011 में कोरा ने जानकारी की ख़ोज और नेविगेशन को आसान बनाने के लिए अपनी वेबसाइट बदल दी. कोरा ने 29 सितंबर को एक आधिकारिक रूप से आईफ़ोन एप्प जारी किया, उसके बाद उसने 5 सितम्बर 2012 को एंड्राइड एप्प भी जारी किया. सितम्बर 2012 में कोरा ने घोषणा की, कि सह संस्थापक चार्ली चीवर प्रतिदिन काम नहीं कर पायेंगे लेकिन वो सलाहकार की भूमिका में बने रहेंगे।

2013 में कोरा ने ब्लॉगिंग मंच को लॉन्च किया, जिसमे प्रश्नों और उत्तरों की पूरी जानकारी को खोजने की सुविधा देने की घोषणा की. मोबाइल उपकरणों में भी इस सुविधा की व्यवस्था की गयी. इसी वर्ष कोरा ने अपने वेबसाइट पर ऐसे फीचर की शुरुआत की. जिससे सभी उपयोगकर्ता ये देख सकेंगे कि कितने लोगों ने उनके प्रश्न और उत्तरों को देखा, उसका अनुसरण किया, साझा किया इत्यादि सभी आंकड़े को देख सकेंगे. कोरा ने मार्च 2016 में पार्लियो ऑनलाइन कम्युनिटी वेबसाइट को खरीद लिया, उसके बाद कंपनी ने साइट पर विज्ञापन का एक सीमित रोलआउट भी शुरू किया. अप्रैल 2017 में कोरा को 1.8 अरब डॉलर के मूल्यांकन के साथ सीरीज डी फंडिंग भी प्राप्त हुई. इस वर्ष एलेक्सा के अनुसार कोरा के सबसे बड़ा उपयोगकर्ता 35.1 % अमेरिका में और भारत में 20.1% है. कोरा समुदाय में कुछ प्रसिद्ध लोग जैसे कि जिमी वेल्स, रिचर्ड ए मुलर, बराक ओबामा और एड्रिअन लामो जैसे बड़े नाम शामिल है. गूगल पेज रैंक के जैसे ही कोरा ने अपने स्वयं के अधिकार वाली एल्गोरिथम का विकास किया है. कोरा अपने वेबसाइट को चलाने के लिए अमेज़न एलास्टिक कंप्यूटर क्लाउड तकनीक का उपयोग करता है।

कोरा की विशेषता एवं उपयोग करने का तरीका (Quora Specialty & use in hindi)

  • कोरा में पंजीकरण : कोरा की नीति में कहा गया है कि उपयोगकर्ताओं को अपने वास्तविक नाम के साथ पंजीकरण करना होगा, हालांकि नामों का सत्यापन आवश्यक नहीं है. उपयोगकर्ता ओपन आईडी प्रोटोकॉल का उपयोग करके अपने गूगल अर्थात ईमेल पते के साथ या फेसबुक अकाउंट से लॉग इन कर सकते है. एक बार पंजीकृत होने के बाद, आप अपनी तस्वीर जोड़ने, मित्रों को ढूंढने सहित कई कार्य को निर्देशन के अनुसार कर सकते है. पंजीकरण के बाद इसका मुख्य पृष्ठ आपके सामने खुल जायेगा.
  • सर्च : आप सर्च करके प्रश्न पूछ सकते है, या किसी भी व्यक्ति को भी सर्च कर सकते है. जब भी आप अच्छी गुणवता के साथ प्रश्न करने की सोच रहे हो तो सबसे पहले ये सुनिश्चित कर लें लिखावट व्याकरणिक रूप से सही है या नहीं, और साथ ही प्रश्न स्पष्ट होने चाहिए. ताकि लोग उत्तर देने के लिए प्रोत्साहित हो. उत्तर देने वाले उपयोगकर्ता के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उनका जवाब सटीक और स्पष्ट होना चाहिए.
  • फीड : इस पद्धति में प्रत्येक उपयोगकर्ता के पास एक टाइमलाइन होगा जो उनकी वरीयता के अनुसार होगा. अन्य सामाजिक नेटवर्क के विपरीत कोरा में लोगों के बजाय विभिन्न विषयों या उनकी रूचि के विषयों पर ज्यादा जोर दिया गया है. कोरा प्रश्नों की गुणवता और विशेष रूप से उत्तरों पर भी जोर देता है. कोरा पर अच्छा अनुभव प्राप्त करने का पहला चरण अच्छी फीड स्थापित करना है. फीड उन विषयों, लोगों और सवालों को दिखाती है, जिनका आपने चुनाव किया था.
  • कोरा में अपनी सेटिंग्स का समायोजन : कोरा में किसी भी टॉपिक को जोड़ सकते है. पढ़ सकते है. उत्तर में जाकर दिए गए प्रश्नों का उत्तर भी दे सकते है. अगर आपको लगातार ईमेल के अपडेट आ रहे है, स्पैम सन्देश आ रहे है और आप इन सबसे बचना चाह रहे है तो डरे नहीं सेटिंग्स में जाकर आप प्राप्त होने वाली सूचनाओं को नियंत्रित कर सकते है. आप विशेष रूप से सूचना के चार प्रमुख क्षेत्रों सम्बंधित विषय, सम्बंधित प्रश्न, सम्बंधित उत्तर और सम्बंधित उपयोगकर्ता को नियंत्रित कर सकते है. इस तरह से आप अपनी रूचि के अनुसार सामग्री को फिल्टर करके भी सम्पादित कर सकते है. आप चाहे तो अपने खाते को निष्क्रिय भी कर सकते है.
  • इनबॉक्स : फेसबुक की तरह कोरा में एक इनबॉक्स है जो उपयोकर्ताओं को एक दुसरे को निजी सन्देश भेजने की अनुमति प्रदान करता है. इसके माध्यम से आप वैसे लोगों से भी जुड़ सकते है, जो फेसबुक पर आपके दोस्त नहीं है. यह एक बहुत ही बड़ा नेटवर्किंग टूल है जो आपको लोगों से जुड़ने की अनुमति देता है.
  • सामग्री का मॉडरेशन या संतुलन : कोरा उपयोगकर्ता द्वारा पोस्ट की गयी सामग्री को संतुलित करने के लिए विभिन्न सुविधाओं का समर्थन करता है. अधिकांश सामग्री का संतुलन या मॉडरेशन उपयोगकर्ताओं द्वारा किया जाता है अन्यथा कोरा के कर्मचारी भी हस्तक्षेप कर सकते है.
  • अपवोट और डाउनवोट : उपयोगकर्ता ऑनलाइन पोस्ट की गयी सामग्री पर अगर उन्हें प्रासंगिक लगा तो सोशल साइट की तरह अपवोट अर्थात पसंद कर कमेंट कर सकते है. यह सुविधा कोरा के ऑपरेटिंग सिस्टम का एक अनिवार्य हिस्सा है, यह उपयोकर्ताओं का जवाब फिल्टर करने देता है, जिससे की सबसे उपयोगी उत्तर को शीर्ष स्थान दिया जाता है. यह उपयोगकर्ताओं को उत्तरों पर वोट देने और उपयोगकर्ता के बीच उत्तरदायित्व को प्रोत्साहित करने की अनुमति देता है, जिस वजह से उपयोगकर्ता को उन विषयों का अनुसरण करने की अनुमति मिलती है जिसमे वह रूचि रखता है.
  • रिपोर्ट : उपयोगकर्ता साहित्यिक चोरी, उत्पीडन, स्पैम, गलत लेख इत्यादि की रिपोर्ट कर सकते है, जिसके बाद उस पोस्ट को जाँच के लिए उप मानक सामग्री में रखा जाता है.
  • सुझाव संपादन : उपयोगकर्ता के लेख में सुधार के बारे में बदलाव का प्रस्ताव देकर लेख में सुधार करने के लिए सुझाव बनाते है, जो भी लेख का मूल लेखक होता है उसे भी प्रस्तावित परिवर्तन की अधिसूचना भेजी जाती है जो सुझाव को सम्पादित करने के लिए स्वीकृत या अस्वीकृत कर सकता है. इस बीच अन्य उपयोगकर्ता सुझाये गए संपादनों पर अपनी टिपण्णी दे सकते है, इसके बाद अगर लेखक चाहे तो सुझाव पर विचार भी कर सकता है. क्योकि कोरा पर कुछ शीर्ष स्तरीय पेशेवर भी है जो अपना महत्वपूर्ण सुझाव देते है.
  • उपयोगकर्ता की पहचान : कोरा उपयोकर्ता प्रोफाइल बनाने की अनुमति देता है जहां वह अपने असली नाम, फोटो, फोल्लोवेर्स या अनुयायियों की संख्या और उनके द्वारा दिए गए प्रश्न और उत्तर इत्यादि जोड़ सकते है. उपयोगकर्ता चाहे तो जोड़ी गयी सारी सामग्रियों को निजी रखने के लिए भी विकल्प का चुनाव कर सकते है. अन्य प्रमुख सूचना साइट्स के विपरीत कोरा नाम न छापने पर प्रतिबन्ध लगाता है. कोरा प्रश्नों और उत्तरों को गुमनाम रूप से पोस्ट करने की अनुमति देता है. अज्ञात उपयोगकर्ता भी अपवोट, टिप्पणी, प्रश्न कर सकते है, संपादनो के लिए सुझाव भेज सकते है, उत्तर अनुरोध भेज सकते है.
  • मुख्य लेखक को प्रोत्साहन : नवम्बर 2012 में कोरा ने शीर्ष लेखक जिसने साइट पर विशेष रूप से मूल्यवान योगदान दिया, उन लेखकों को प्रोत्साहित करने के लिए उन्हें आमंत्रित कर ब्रांडेड कपडे, पुस्तक इत्यादि उपहार स्वरुप प्रदान किये जाते है.

कोरा की विशेषताएं (Quora Features)

  • कोरा छोटे व्यवसाय के मालिकों या अन्य पेशेवर को नेटवर्किंग और संचार कौशल के माध्यम से मदद कर सकता है. वह व्यावसाय मालिकों और अन्य पेशेवर को कुछ क्षेत्रों में अपनी विशेषज्ञता प्रदर्शित करने की अनुमति भी देता है. दूसरों के द्वारा उठाये गए सवालों के जवाब को देकर वो अपने व्यक्तिगत और व्यवसायिक ब्रांड दोनों का निर्माण कर सकते है.
  • व्यापार करने वाले मालिकों को व्यापार में होने वाली कठिनाईयों के लिए कई राय मिलेगी, उन्हें विशिष्ट जरूरतों के लिए अच्छा निर्णय लेने में मदद मिल सकती है. कोरा पर जानकारियों का बड़ा भंडार है, यह दर्शनीय स्थल के लिए चित्र के माध्यम से भी जानकारियां उपलब्ध कराता है.

तत्कालिक समय में पे- टीएम भारत में बहुत अधिक प्रयोग हो रहा है. इस समय पे टीएम इस्तेमाल करने वालों की संख्या कुल 57% है. इसके अतिरिक्त अन्य ऑनलाइन वॉलेट इस्तेमाल करने वालों में MobiKwik, FreeCharge, Oxigen, Citrus Pay, Phone Pe, PayU, ItzCash, Jio Money और Ola Money आदि है. गूगल पेमेंट एप्लीकेशन तेज़ आने के बाद इस प्रतियोगिता में काफ़ी बदलाव देखा जा सकता है। I Love My India जय हिंद।

तो दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस Facebook पर Share अवश्य करें! अब आप हमें Facebook पर Follow कर सकते है !  क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

“ मेरा देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है ”

Loading...
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):