A Smart Gateway to India…You’ll love it!
WelcomeNRI.com is being viewed in 121 Countries as of NOW.
A Smart Gateway to India…You’ll love it!

योगी आदित्यनाथ की मुख्य योजनाएँ, पूरी जानकारी | Yogi Adityanath Top schemes


yogi-adityanath-top-schemes-hindi

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, ने महिलाओं की सुरक्षा, सरकारी विभागों, सरकारी अस्पतालों, सरकारी कर्मचारियों और राज्य के युवाओं के लिए कई योजनाओं की घोषणा की है। …

Yogi Adityanath schemes 2017 उत्तरप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने पर योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. शपथ के साथ ही योगी ने उत्तरप्रदेश के विकास के लिए कई विशेष महत्वपूर्ण क़दम उठाये. इस क़दमों से वे मीडिया में सुर्ख़ियों में बने रहे. इस दौरान इन्होंने कई स्कीम और योजनाओं को अमल में लाने की बात कही है. ये योजनाएँ उत्तप्रदेश के युवाओं, बुजुर्गों, महिलाओं, छात्रों और छोटे बच्चों के लिए शुरू की जा रही है, जिसका फायदा सभी उत्तरप्रदेश वासी जाति- धर्म से परे उठा सकेंगे. इससे संपूर्ण उत्तरप्रदेश का विकास हो सकेगा. योगी ने उत्तरप्रदेश को भारत का सबसे विकसित राज्य बनाने की बात कही है, और इसके लिए वे केंद्र सरकार से हाथ मिलाकर इस काम को आगे बढ़ा रहे हैं. नीचे योगी आदित्यानाथ की महत्वपूर्ण योजनाओं का विवरण दिया जा रहा है,

उत्तर प्रदेश चीफ मिनिस्टर अदित्यनाथ नयी सरकारी योजना 2017 पूरी जानकारी यहाँ पढ़े हिंदी में

बाल श्रम को ख़त्म करने के लिए योजना

योगी आदित्यानाथ ने बालश्रमिकों की भलाई के लिए तीन नई स्कीमों की घोषणा की है, जो स्कॉलरशिप स्कीम, शादी अनुदान स्कीम तथा बाल श्रम स्कूल विकास (डेवलपमेंट ऑफ़ स्कूल फॉर वर्कर चिल्ड्रेन) के नाम से शुरू की गयी है. नीचे इन तीनों स्कीम के विषय में संक्षिप्त जानकारी दी जा रही है.

स्कॉलरशिप स्कीम

इस स्कीम के तहत उत्तरप्रदेश सरकार 5000 विभिन्न स्कॉलर शिप विभिन्न तरह से देगी. इसके अतिरिक्त सरकार पहली कक्षा से शुरू करके ऊपर की कक्षाओं में 100 रूपए प्रति छात्र को देगी.

शादी अनुदान

सरकार किसी भी परिवार की दो बेटियों की शादी के लिए रुपये देगी. इस स्कीम के अंतर्गत सरकार जातिगत विवाह के लिए 55,000 रूपए तथा अंतर्जातीय विवाह के लिए 61000 रूपए का अनुदान देगी.

डेवलपमेंट ऑफ़ स्कूल

उत्तरप्रदेश सरकार ने प्रदेश के 20 जिलों में स्कूल के निर्माण की योजना लायी है. इन स्कूलों में बच्चों के रहने की भी सुविधा की जायेगी. ऐसी स्कूलों में मुख्यतः बाल श्रमिकों को रखा जाएगा.

ग़रीबी रेखा से नीचे के परिवारो के लिए मुफ्त बिजली कनेक्शन

उत्तरप्रदेश में ग़रीबी से नीचे के परिवारों को मुफ़्त में पॉवर कनेक्शन दी जायेगी. इस योजना का लाभ ग़रीबी रेखा से ऊपर के लोग भी उठा सकेंगे, हालाँकि उन्हें ये सेवा मुफ्त में हासिल नहीं होगी. ग़रीबी रेखा के ऊपर के लोग बहुत आसान ईएमआई की सहायता से बिजली कनेक्शन ले सकेंगे. ये निर्णय प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल के साथ एक बैठक के दौरान लिया. योजना के अनुसार ये सुविधा प्रदेश वासियों को जाति- धर्म निरपेक्ष रूप से दी जायेगी, जोकि नए सोशियो- इकनोमिक सेन्सस डेटा पर आधारित होगा. आगे इस बात की भी पुष्टि की गयी कि राजक्षम्य की दृष्टि से सभी घरेलु तथा व्यावसायिक बिजली कनेक्शन विशेष स्कीम के तहत दी जायेगी, ताकि बिजली चोरी जल्द से जल्द बंद हो. एक विशेष निर्णय ये लिया गया है कि बिजली खपत को मापने के लिए स्मार्ट मीटरिंग की व्यवस्था की जाएगी तथा इलेक्ट्रिसिटी बकायों को ईएमआई के तौर पर भरने का मौक़ा दिया जाएगा. साथ ही सरकार प्रदेश के कोने कोने में 24 घंटे बिजली की व्यवस्था लाने का प्रयत्न कर रही है.

किसान क़र्ज़ माफ़ी योजना

योगी सरकार ने उत्तरप्रदेश के छोटे और माध्यम किसानों के क़र्ज़ पर 1 लाख रूपए तक की छूट देने की बात कही है. इस योजना से लगभग 2.15 करोड़ किसान परिवारों को फायदा मिलने वाला है. कुल 30,729 करोड़ रूपए की इस छूट के साथ सरकार ने लगभग 7 लाख अन्य किसानों का 5,630 करोड़ रूपए का एनपीए भी अपने सर लेने का निर्णय किया. अतः कुल 36,365 करोड़ रूपए, जो किसानों द्वारा लिए गये हैं, उसकी भरपाई सरकार राज्यकोश से करेगी.

उतरप्रदेश मुख्यमंत्री स्वरोज़गार योजना

इस योजना के अंतर्गत सरकार तात्कालिक आर्थिक वर्ष में युवाओं को रोज़गार देने की पहल कर रही है. मुख्यमंत्री ने कहा है कि राज्य के 25000 युवाओं को इस योजना के तहत तुरंत रोज़गार दिया जाएगा. इस योजना के तहत दिए जा रहे रोज़गार में 21 प्रतिशत आरक्षण अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजातियों के लिए दिया जाएगा. केंद्र सरकार द्वारा भी ऐसी ही योजना शुरू की गयी थी, केंद्र की उस रोजगार योजना को उत्तरप्रदेश में बढ़ावा देने के लिए इस योजना की शुरुआत की गयी है.

मुख्यमंत्री मुफ्त लैप- टॉप वितरण योजना

उतरप्रदेश की पिछली सरकार ने राज्य के युवाओं में लैपटॉप बांटकर खूब सुर्खियाँ बटोरी थीं. योगी ने मुख्यमंत्री बनने के बाद ख़ुद अपनी सरकार के ज़रिये भी युवाओं को लैपटॉप देकर उसका प्रोत्साहन कर रहे है. सरकार लैपटॉप वितरण का ये काम शुरू भी कर चुकी है. इस योजना के तहत सरकार प्रदेश के 22 से 23 लाख युवाओं को लैपटॉप बांटने वाली है. इस योजना का लाभ सिर्फ वे ही विद्यार्थी उठा पाएंगे, जो उत्तरप्रदेश में अपनी पढाई कर रहे है.

उत्तरप्रेश भाग्यलक्ष्मी योजना

राज्य में लड़कियों के लाभ के लिए सरकार ने इस योजना की शुरुआत की है. सरकार ने इस योजना का सारा कार्यभार उत्तरप्रदेश सरकार के स्त्री कल्याण विभाग को सौंपा है. इस योजना के अंतर्गत सरकार ग़रीब परिवारों में जन्म लेती बच्चियों के नाम 50,000 रूपए का एक बांड ज़ारी करेगी, जिसका प्रयोग बच्ची अपने 18 वर्ष पूरे होने के बाद कर पाएगी. साथ ही कन्याओं में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार छठवीं कक्षा की छात्राओं के लिए 3000 रूपए, दसवीं कक्षा की छात्राओं के लिए 7000 रूपए, 12 वीं कक्षा के छात्राओं के लिए 8000 रूपए तथा स्नातक में प्रवेश के समय 32,000 रूपए का स्कॉलरशिप दी जाएगी.

उत्तरप्रदेश अन्नपूर्ण भोजनालय योजना

उत्तरप्रदेश सरकार योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में इस योजना की पहल करने वाली है. इस योजना के तहत महज तीन रूपए में नाश्ते तथा 5 रूपए में खाने का प्रबंध किया जाएगा. दिन का नाश्ता, दोपहर और रात का खाना इस योजना के अंतर्गत आम लोगों को प्राप्त हो सकेगा. लोगों के लिए दलिया, साम्भर, पोहा, चाय पकौड़ा आदि नाश्ते के समय तथा खाने के समय चावल, रोटी, दाल तथा बाज़ार में उपलब्ध सब्ज़ियाँ मौजूद होंगी.

सड़क निर्माण योजना

उत्तरप्रदेश सरकार ने प्रदेश के बड़े शहरों के सड़कों की मरम्मत के लिए एक योजना बनायी है, ताकि जल्द से जल्द प्रदेश की परिवहन व्यवस्था बेहतर की जा सके. सरकार ने राज्य के पीडब्ल्यूडी विभाग को आदेश दिया है कि जल्द ही ये काम पूरा किया जाए. साथ ही प्रदेश के ऐसे हिस्सों में जहाँ आज भी कच्ची सड़कें ही मौजूद हैं, सरकार ने वहाँ पर सड़क निर्माण की घोषणा की है. इस कार्य में पारदर्शिता लाने के लिए सरकार ने ई टेंडर की सुविधा को और भी बेहतर बनाया है. साथ ही अपने कर्मचारियों से कहा है कि वे दाग़ी ठीकेदारों को इस काम में संलग्न न करें और आवश्यक हो तो नए ठेकेदारों को मौक़ा दें.

कैलाश मानसरोवर तीर्थ यात्रा योजना

अपने मुख्यमंत्री बनते ही योगी आदित्यनाथ ने कैलाश मानसरोवर तीर्थ यात्रा के लिए एक लाख रूपए की सब्सिडी देने की बात कही. पिछली सरकार के समय ये सब्सिडी 50000 रूपए की थी. इस सब्सिडी का लाभ उठाने के लिए श्रद्धालू के पास उत्तरप्रदेश का डोमिसाइल सर्टिफिकेट का होना आवश्यक है. प्रतिवर्ष लगभग 100 तीर्थयात्री कैलाश मानसरोवर की यात्रा के लिए जाते हैं. अतः ये सब्सिडी उनकी तीर्थयात्रा को आसान बनाएगी.

अन्नपूर्णा भोजनालय योजना

उत्तर प्रदेश सरकार ने तमिलनाडु सरकार की सब्सिडी वाली खाद्य योजना ‘अम्मा कैंटीन्स’ की तर्ज पर एक नयी योजना की शुरुआत की है जिसके तहत, उत्तर प्रदेश में अन्नपूर्णा भोजनालयों क़े माध्यम से नाश्ते, दोपहर और रात का भोजन बहुत कम कीमत पर उपलब्ध कराया जाएगा। इस योजना से उत्तर प्रदेश में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग क़े लोगों और गरीब मजदूरों को फायदा होगा। जानकारी के अनुसार, योजना क़े तहत पौष्टिक नाश्ता केवल 3 रुपए में उपलब्ध होगा और दोपहर का पौष्टिक भोजन केवल 5 रुपए में उपलब्ध होगा। प्रारंभिक चरण में यह योजना गाजियाबाद, कानपुर, लखनऊ और गोरखपुर में लागू की जाएगी।

इस तरह योगी सरकार उत्तरप्रदेश के विकास के लिए पूर्ण रूप से सजग है. प्रदेश के लोगों को सरकार की योजनाओ से काफ़ी मदद मिलेगी और प्रदेश विकासमार्ग पर अग्रसर होगा. और इस तरह योगी आदित्यनाथ की सरकार उत्तरप्रदेश को संपूर्ण रूप से विकसित करने में लगी है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ योजना 2017 के मध्यवर्गीय परिवारों पर मुख्य ध्यान केंद्रित करेंगे और गरीब लोगों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के चुनाव से पहले फैसला किया है.

योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में एंटी रोमियो स्क्वाड (Anti-Romeo Squads) का भी चुनाव किया है.

Jai Hind!

You may be intrested in

A Smart Gateway to India…You’ll love it!

Recommend This Website To Your Friend

Your Name:  
Friend Name:  
Your Email ID:  
Friend Email ID:  
Your Message(Optional):